अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेदाग साबित होऊंगा : डालमिया

बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष जगमोहन डालमिया ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि अदालत में उनके हक में फैसला आएगा और वह बेदाग साबित होंगे। उन्होंने कहा कि सच को झुठलाया नहीं जा सकता है। कई सालों से उनके पक्ष में कानूनी फैसले आ रहे हैं और वह अदालत से बेदाग साबित होंगे। उनका कहना है कि कानून सच देखता है और उनके मामले में भी सच ही है। सच को न तो बदला जा सकता है और न ही उसे रचा जा सकता है। डालमिया पर बीसीसीआई के कोष से 2 करोड़ 0 लाख रूपए की कथित हेराफेरी का आरोप है। इस तरह के आरोप में उनके सचिव केएम चौधरी और गौतम दत्ता भी फंसे हैं। मुंबई की आर्थिक अपराध शाखा की पुलिस ने डालमिया और उनके दोनों सहयोगियों को भी गिरफ्तार किया मगर ये तीनों एस्प्लानेट कोर्ट से जमानत पर रिहा हो गए। अब इनके मामले की सुनवाई एस्प्लानेट कोर्ट में 11 अप्रैल को होगी। इस बीच डालमिया के वकील सतीश मानेिशदे ने कहा कि डालमिया के खिलाफ राजनीति से प्रेरित कार्रवाई हो रही है। उन्होंने पुलिस पर भी बोर्ड के दबाव में काम करने का आरोप लगाया है। केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार के बोर्ड के अध्यक्ष बनने के बाद बोर्ड ने मरीन लाइंस पुलिस स्टेशन में डालमिया और उनके सचिव चौधरी और दत्ता के खिलाफ वर्ष 1में क्रिकेट विश्व कप के कोष में कथित रूप से गड़बड़ी करने की शिकायत मार्च 2006 में कराई थी जिसकी जांच पूरी कर ली गई है और इस मामले की साढ़े पांच हजार पन्नों की चार्जशीट भी कोर्ट में दाखिल कर दी गई है। इससे पहले डालमिया को आर्थिक अपराध शाखा में पूछताछ के लिए बुलाया गया था और उनको वहीं पर गिरफ्तार कर लिया गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बेदाग साबित होऊंगा : डालमिया