DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर बिहार में आम व लीची में लगा मधुआ

उत्तर बिहार में आम व लीची के बगान में मधुआ व फल झड़न रोग लगने से सरकार चिंतित है। सरकार ने मामले की जांच व निदान के लिए दो सदस्यीय दल का गठन किया है। यह दल तिरहुत व दरभंगा प्रमंडल में रोग की जांच के बाद निदान का उपाय करेगी।ड्ढr ड्ढr संयुक्त कृषि निदेशक (पौधा संरक्षण) सत्यनारायण मोची ने दोनों दलों को छह अप्रैल तक जांच रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। संयुक्त कृषि निदेशक (पौधा संरक्षण) सत्यनारायण मोची ने बताया कि तिरहुत प्रमंडल में अनिल कुमार व अजीत कुमार शरण और दरभंगा प्रमंडल में जांच के लिए अरविन्द कुमार सिंह व सतीश चन्द्र झा को जिम्मेवारी सौंपी गयी है। दरभंगा प्रमंडल में 2मार्च और मुजफ्फरपुर में एक से छह अप्रैल तक जांच होगी। इधर, कनीय पौधा संरक्षण पदाधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि जिले के कांटी, कटरा, मीनापुर, बोचहां व मुशहरी प्रखंड से रोग की अधिक शिकायतें मिली हैं। उन्होंने किसानों को मधुआ रोग से बचाव के लिए मंजर में दाना आने के बाद इन्डोसल्फान 35 प्रतिशत ईसी का 1.5 से 2 एमएल तथा सल्फर पाउडर 80 प्रतिशत डब्ल्यूपी का 2.5 एमएल प्रति लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव की सलाह दी गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उत्तर बिहार में आम व लीची में लगा मधुआ