DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विचित्र मरीज का जटिल आपरेशन

विचित्र मरीज सलमा खातून की बुधवार को एक निजी नर्सिग होम में सफल लेप्रोस्कोपिक सर्जरी की गयी। मरीज ‘साइटस इनवर्सस’ की रोगी है। इस बीमारी में मरीज का हृदय, लीवर, अपेंडिक्स और पित्त की थैली विपरीत स्थान पर होती है। सलमा का ऑपरेशन करनेवाले कार्डियोथोरेसिक सर्जन डा.एम.जी.रई ने बताया कि इस प्रकार की बीमारी 10 लाख में एक मरीज में पायी जाती है। यह दुर्लभ प्रकार का रोग है।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि परीक्षण में पाया गया कि मरीज का हृदय बांये न होकर दाहिने तरफ था। ऐसे ही उसका लीवर, एपेंडिक्स और पित्त की थैली दाहिने तरफ न होकर बांये थी। मरीज पेट में दर्द की शिकायत थी। जांच में पाया गया कि कि उसके सभी महत्वपूर्ण अंग विपरीत दिशा में हैं। मरीज की पित्त की थैली में पत्थर था। ऑपरेशन की जटिलता यह थी कि दाहिने हाथ से सर्जरी करनेवाले डॉक्टर मरीज के बांये तरफ खड़ा होकर ऑपरेशन करते हैं। इस मरीज के ऑपरेशन के लिए डॉक्टर को दाहिने तरफ खड़ा होकर बांये हाथ से लेप्रोस्कोपिक सर्जरी करनी पड़ी। एक घंटे के अन्दर सलमा की पित्त की थैली से लेप्रोस्कोपिक विधि से पत्थर निकाल दिया गया। मरीज स्वास्थ्य लाभ कर रही है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विचित्र मरीज का जटिल आपरेशन