अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिर वंदना ने दी मौत को मात

जिंदगी और मौत की जंग को तेहरा के मजरे हुलसपुरा में हजारों लोगों ने बुधवार को बेहद करीब से देखा। 46 फुट गहरी बोरिंग में गिरी ढाई साल की वंदना की सलामती के लिए हर कोई ईश्वर से वंदना करता नजर आया। छह इंच चौड़े गड्ढे में फंसी वंदना को निकालने के लिए दिनभर चले राहत कार्य के दौरान 50 फुट का गड्ढा खोदा गया और फिर आठ फुट लंबी सुरंग बनाकर उस तक पहुंचने का प्रयास किया गया। पूरा ऑपरेशन सेना के हाथ था। (अंतत: रात साढ़े नौ बजे वंदना ने जिंदगी की जंग को जीत लिया। विदित हो कि हुलसपुरा निवासी बंगाली कुशवाह की ढाई वर्षीय पुत्री वंदना गत शाम करीब छह बजे घर के सामने स्थित एक खुले हुए बोरिंग के गड्डे में खेलते समय गिरी पड़ी। जब घरवालों को काफी देर तक वह दिखाई नहीं दी तो खोजबीन की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आखिर वंदना ने दी मौत को मात