DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन झूठ बोल रहा है : तिब्बती भिक्षु

तिब्बत की राजधानी ल्हासा के एक प्रमुख मठ में चीन प्रशासन की आेर से आयोजित विशेष संवाददाता सम्मेलन के दौरान तिब्बती भिक्षुआें के समूह ने आकर कहा कि सरकार क्षेत्र में दो हफ्ते से ज्यादा अर्से से व्याप्त असंतोष के बारे में झूठ बोल रही है। प्रत्यक्षदर्शियों ने यह जानकारी दी। प्रशासन की आेर से बुधवार को कुछ चुनींदा विदेशी और चीन के पत्रकारों को ल्हासा के तीन दिन के सरकारी दौरे पर लाया गया था। प्रशासन यह संकेत देना चाहता था कि तिब्बत में हालात सामान्य हैं जहां गत 14 मार्च से चीन विरोधी हिंसा के कारण अस्थिरता का माहौल बना हुआ है। जोखांग मठ में संवाददाता सम्मेलन चल ही रहा था कि तभी तिब्बती भिक्षुआें का एक समूह वहां आ पहुंचा। यूएसए टूडे के एक संवाददाता केल्लुम मैकलॉड ने बताया कि करीब 30 भिक्षुआें ने वहां आकर कहा कि इन पर यकीन मत करो ये आपके साथ चालबाजी कर रहे हैं। ये लोग झूठ बोल रहे हैं। कुछ भिक्षुआें ने कहा कि उन्हें गत 10 मार्च से जोखांग मठ से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा। ताइवान के ईटीटीवी के कैमरामैन वांग शे नैन ने बताया कि यह घटनाक्रम करीब 15 मिनट तक चला। उसके बाद पुलिसकर्मी उन भिक्षुआें को पत्रकारों से दूर मठ के दूसरी आेर ले गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चीन झूठ बोल रहा है : तिब्बती भिक्षु