DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विकास आयुक्त ने जब्त लकड़ियों का ब्योरा मांगा

झारखंड राज्य वन विकास निगम के निदेशक मंडल की बैठक में विकास आयुक्त ने 15 दिन के अंदर पुलिस थानों और डिपो में जब्त वाहनों तथा लकड़ियों का ब्योरा मांगा है। वन सचिव सुधीर प्रसाद से जानकारी मांगी गयी है कि कब से तथा किन कारणों से पुलिस थानों और डिपो में जब्त लकड़ियों की नीलामी नहीं की गयी है।ड्ढr विकास आयुक्त डॉ अशोक कुमार सिंह ने कहा कि विगत दस वषरे से जब्त लकड़ियों की नीलामी नहीं हुई है। इससे जब्त लकड़ियों के रख-रखाव और सुरक्षा में लागत से दस गुणा अधिक राशि खर्च होती है। पुलिस थानों में भी वन विभाग द्वारा जब्त किये गये वाहन और लाखों रुपये की लकड़ियां सड़ रही हैं।ड्ढr यहां उल्लेखनीय है कि वर्ष 2003-04 में ही डोरंडा सहित राज्य के अन्य केंद्रीय डिपो में सड़ रही लकड़ियों की नीलामी का प्रस्ताव तैयार किया गया था। प्रस्ताव पर अमल नहीं हुआ। इस कारण ललगुटवा सहित कई अन्य जिलों के डिपो में गम्हार, सखुआ सहित कई प्रजाति की लकड़ियां दस वषरे से सड़ रही है। बैठक में केंदु पत्ती की बिक्री के संबंध में भी निर्णय लिया गया। वन मंत्री सुधीर कुमार महतो, वन सचिव, उद्योग सचिव, पीसीसीएफ सीआर सहाय और निगम के प्रबंध निदेशक यूआर विश्वास बैठक में उपस्थित थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विकास आयुक्त ने जब्त लकड़ियों का ब्योरा मांगा