DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दागी रेंजर को मलाईदार पोस्टिंग देने की तैयारी

गबन, वित्तीय अनियमितता के आरोपी एवं सरकारी आदेश को ठेंगा दिखानेवाले रेंजर प्रभात कुमार नायक को मलाईदार पोस्टिंग पर भेजने की तैयारी हो रही है। इसके लिए प्रभावशाली लोगों द्वारा दबाव बनाया जा रहा है कि उन्हें जमशेदपुर प्रमंडल के मनोहरपुर अथवा चाईबासा में पदस्थापित किया जाये।ड्ढr प्रभात कुमार नियुक्ित के समय से ही विवादों के घेरे में है। उनकी नियुक्ित बिहार राज्य वन विकास निगम में वनोपज निरीक्षक के रूप में हुई थी। उनपर आरोप है कि उन्होंने बिहार का फर्जी डोमिसाइल सर्टिफिकेट बना कर नौकरी हासिल की, जबकि उड़ीसा से आइसीएआर के कोटे पर बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में उनका नामांकन हुआ था। नियुक्ित के बाद वह जब डाल्टनगंज में लघु वन पद्धार्थ परियोजना में पदस्थापित थे, तो उन पर वर्ष 2001 में केंदू पत्ता व सालबीज संग्रहण में 26 लाख की वित्तीय अनियमितता करने का आरोप लगा।ड्ढr ताजा मामला सरकारी आदेश की अवहेलना का है। झामुमो विधायक एवं पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण समिति के सदस्य निरल पूर्ति ने विभागीय मंत्री के पास इन्हें हटाने की अनुशंसा की थी। उस समय नायक वन विकास निगम चाईबासा के प्रक्षेत्र पदाधिकारी थे। उन पर कार्यस्थल से अनुपस्थित रहने, संतोषजनक काम नहीं करने और चार साल से एक ही स्थान पर बने रहने का आरोप है।ड्ढr विधायक की अनुशंसा पर मंत्री सुधीर महतो ने नायक का स्थानांतरण 2007 में चाईबासा से चंदवा कर दिया। नायक ने यह आदेश मानने से इनकार कर दिया। इस वजह से तत्कालीन वन विकास निगम के प्रबंध निदेशक ने उन्हें निलंबित कर दिया और उनका मुख्यालय गिरिडीह कर दिया। निलंबन के विरुद्ध नायक ने हाइकोर्ट में याचिका दायर की। हाइकोर्ट ने उन्हें कोई राहत न देते हुए याचिका स्वीकृत कर ली। जिसे बाद में नायक ने वापस ले लिया। अब विभागीय मंत्री पर दबाव है कि नायक को चाईबासा या मनोहरपुर में पदस्थापित किया जाये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दागी रेंजर को मलाईदार पोस्टिंग देने की तैयारी