अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया मेडिकल कॉलेज में रैगिंग और पिटाई

वर्चस्व को लेकर अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज के सीनियर छात्रों ने जूनियर छात्रों की जबर्दस्त पिटाई की, जिसके विरोध में पीड़ित छात्रों ने गुरुवार को न केवल प्राचार्य कार्यालय के समक्ष नारेबाजी की, वरन सीनियर छात्रों पर रैगिंग का भी आरोप लगा डाला।ड्ढr ड्ढr बताया गया कि बुधवार की देर रात कालेज के वर्ष 2006 बैच के छात्रों को उनके सीनियर छात्रों ने धन्वंतरी छात्रावास में बुलाया और वहां से उसे सिद्धार्थ छात्रावास ले गए , वहां पर जूनियर छात्रों की पिटाई की गई तथा रैगिंग की गयी। इस वारदात में शशिभूषण मणि, रविरंजन एवं रंजय कुमार रंजन को गंभीर चोटें आईं हैं, जबकि आधे दर्जन और छात्रों को हल्की चोटें पहुंची हैं। पीड़ित छात्रों ने बताया कि विगत 15 दिनों से उनलोगों का मेस बंद कर दिया गया। इसी मुद्दे को लेकर जूनियर छात्रों को बुलाया गया था, लेकिन वहां पहुंचते ही सीनियर छात्रों ने भद्दी-भद्दी गालियां देनी शुरू कर दी और कहा तेज बनते हो। हमलोगों के सामने आंखे नीचे कर के चलो। इसी बीच , बैच 2002 के कई छात्रों ने जूनियर छात्रों की लाठी से पिटाई करनी शुरू कर दी। छात्रों का कहना है कि यह सुनियोजित तरीके से की गई और बराबर उनलोगों को शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना दी जाती है। मुर्गा बनाया जाता है। देर रात घटित इस घटना के बाद घायल छात्रों का इलाज अस्पताल में किया गया। कुछ देर तक के लिए यहां अफरा-तफरी का भी माहौल कायम हो गया था।ड्ढr ड्ढr इस घटना के बाद जूनियर छात्रों ने गुरुवार को प्राचार्य कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया और 2002 बैच हाय-हाय , रैगिंग बंद करो, जूनियर छात्रों पर जुल्म करना बंद करो इत्यादि नारे लगाए। इस बाबत पीड़ित छात्रों ने प्राचार्य को लिखित पत्र भी सौंपा है। कालेज के प्राचार्य डा. एम एम पी सिंह ने बताया कि यह घटना वर्चस्व जमाने को लेकर हुई है। रैगिंग की बात प्रथम दृष्टया सही प्रतीत नहीं होती है। क्योंकि, जिन छात्रों को पीटा गया है, वो वर्ष 2006 बैच के हैं। उन्होंने बताया कि इस घटना की जांच की जाएगी । और दोषी पाए जाने वाले छात्रों के विरुद्ध कार्रवाई के साथ ही सरकार को भी लिखा जाएगा। इधर, वर्ष 06 के छात्र राकेश रंजन, अशरफ अली, कौशल परवेज, विजय कुमार, विकास, अमित, मसलेउद्दीन, गौरव सरकार इत्यादि ने सुरक्षा के साथ ही दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गया मेडिकल कॉलेज में रैगिंग और पिटाई