DA Image
25 जनवरी, 2020|11:09|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ब्लैकविल के बयान से बुरे फंसे आडवाणी

भारत में अमेरिका के पूर्व राजदूत राबर्ट ब्लैकविल ने भाजपा के पीएम इन वेटिंग लालकृष्ण आडवाणी के इस दावे को गलत बताया है कि उन्होंने कंधार विमान अपहरण के समय अमेरिका से मदद के लिए उनसे संपर्क किया था। इधर ब्लैकविल के बयान के बाद कांग्रेस ने आडवाणी को आड़े हाथों ले लिया। कांग्रेस ने कहा कि ब्लैकविल के खंडन से फिर साबित हो गया है कि आडवाणी की किताब झूठ का पुलिंदा है। आडवाणी की आत्मकथा ‘माई कंट्री माई लाइफ’ में किए गए दावे का खंडन करते हुए ब्लैकविल ने एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा कि वह उस समय हार्वर्ड यूनिवसिर्टी में पढ़ा रहे थे, लेकिन संकट के समय पूरी कोशिशों के बावजूद अमेरिका से मदद नहीं मिलने के कारण आडवाणी की जो स्थिति हुई होगी उससे वह इत्तेफाक रखते हैं। वह इस कांड के दो साल बाद भारत में बतौर अमेरिकी राजदूत आए थे। वहीं कांग्रेस के प्रवक्ता अहमद पटेल ने कहा कि आडवाणी की किताब का नाम वास्तव में ‘माई कंट्री माई लाइफ माई लाईज’ होना चाहिए। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार में रक्षा मंत्री रहे जार्ज फर्नाडींस के इस बयान पर कि तत्कालीन विदेश मंत्री जसवंत सिंह को अपहृत विमान के यात्रियों को छुड़ाने के लिए कंधार भेजने का निर्णय मंत्रियों का संयुक्त फैसला था। अहमद ने कहा कि यह उन लोगों को आपस में फैसला करना है कि कौन झूठ बोल रहा है। उल्लेखनीय है कि आडवाणी ने आत्मकथा में कहा है कि उन्हें सिंह के कंधार भेजे जाने के बारे में बताया ही नहीं गया था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: ब्लैकविल के बयान से बुरे फंसे आडवाणी