DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रमा और शाहदेव जीत की ओर

रांची की मेयर पद पर रमा खलखो और डिप्टी मेयर के पद पर अजय नाथ शाहदेव की जीत का मार्ग लगभग प्रशस्त हो गया है। दोनों उम्मीदवार अपने-अपने प्रतिद्वंद्वियों से लगातार बढ़त बनाये हुए हैं। शनिवार की देर शाम तक सभी परिणाम घोषित किये जाने की संभावना है। पंडरा स्थित मतगणना केंद्र पर शुक्रवार की देर रात तक काउंटिंग का काम जारी था। इसबीच, एसडीआे मनोज कुमार ने रात के 12 बजे पंडरा मतगणना केंद्र में मतगणनाकर्मियों को किसी भी हालत में 2मार्च तक मतगणना कार्य पूरा करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं हुआ, तो यह भारत के इतिहास में पहली घटना होगी।ड्ढr रात एक बजे तक 26 वार्ड के परिणाम घोषित कर दिये गये थे, जबकि चार वार्डो में गिनती अंतिम दौर में थी। दूसरे राउंड की समाप्ति तक मेयर प्रत्याशी रमा खलखो ने अपनी निकटतम प्रतिद्वंद्वी सुशीला कुजूर से 7437 मतों की बढ़त बना ली थी। रमा को 13014 मत मिले, जबकि 5577 मत प्राप्त कर आश्रिता कुजूर दूसरे नंबर पर थीं। जबकि तीसरे नंबर पर जगरानी कुजूर (4824), ललिता उरांव (4734) चौथे, सुशीला कुजूर (4082) पांचवे स्थान पर थीं। डिप्टी मेयर के लिए अजय नाथ शाहदेव को मत मिले। उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी अरुण पांडेय को 3मत। यानि अजय 5514 मतों से आगे चल रहे थे। तीसरे स्थान पर सामुएल गुड़िया को 3848, चौथे पर प्रदीप शर्मा को 3558 मत मिले। तिलक राज आजमानी 3164 मत हासिल कर पांचवें स्थान पर थे। मतगणना 27 मार्च की सुबह 10.40 बजे शुरू हुई। प्रत्याशियों की अधिक संख्या एवं मतगणना केंद्र में अफरा तफरी से धीमी गति से गिनती शुरू हुई। कुछ वार्डो में पुनर्गणना-प्रत्याशियों द्वारा बाधा डालने के कारण भी गणना में विलंब हुआ।प्रथम दिन के मुकाबले दूसरे दिन मतगणना केंद्र में समर्थकों की भीड़ कम रही। वार्ड पार्षद के जिन उम्मीदवारों के सिर पर जीत का सेहरा बंधा, वे रिटर्निग ऑफिसर से सर्टिफिकेट प्राप्त कर बाहर जा रहे थे। बाहर निकलते ही उनके समर्थक वार्ड पार्षदों को फूलमालाओं से लाद दे रहे थे। अबीर-गुलाल भी जमकर उड़े। वहीं पराजित उम्मीदवार मतगणना में धांधली का आरोप लगाते अपने घरों के लिए प्रस्थान किये। मतगणना कार्य में लगभग दो हजार कर्मचारी लगाये गये हैं। लगातार काम करने के कारण इनमें सेकई कर्मचारी शुक्रवार की शाम बेहोश हो गये। केंद्र में तैनात सुरक्षाकर्मी भी पस्त हैं। मतपत्र के बड़े-बड़े बंडलों से केंद्र के सभी आठ हॉल अटे पड़े हैं। कुछ ऐसे भी वार्ड हैं, जहां देर रात तक मतों की गिनती का काम शुरू नहीं हो सका था। ऐसे वार्डो के प्रत्याशी एवं उनके समर्थक केंद्र के भीतर लगाये गये तंबू में रात काट रहे हैं। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रमा और शाहदेव जीत की ओर