DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्मियों को इंसेंटिव या इंक्रीमेंट दे सीसीएल

दी झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन ने कहा है कि सीसीएल प्रबंधन कर्मियों की मेहनत को सही सम्मान देना चाहता है तो उन्हें इंसेंटिव या इंक्रीमेंट दे। इससे उनका हौसला बढ़ेगा। आने वाले दिनों में इसका लाभ कंपनी को भी मिलेगा। गजल संध्या और सांस्कृतिक कार्यक्रम होने से उन्हें सम्मान नहीं मिलेगा। महासचिव सनत मुखर्जी ने कहा कि इन कार्यक्रमों का संगठन जोरदार विरोध करेगा। ऐसे कृत्यों में जेसीसी के सदस्यों की भी सहमति होती है। प्रबंधन से मिलने वाले बेशकीमती उपहार लेकर वे चुप्पी साध लेते हैं। इस बार 11 अप्रैल को पिपरवार में उनकी बैठक बुलायी गयी है। सामंती प्रवृत्ति के तहत जिमखाना क्लब में एक अप्रैल की शाम गजल संध्या और डिनर में उच्चाधिकारी एवं उनके परिवार को ही बुलाया गया है। मेहनत करने वाले कामगारों को सिर्फ मिठाई दी जायेगी।ड्ढr शीघ्र संचिका भेजेगा कोल इंडियाड्ढr कोयला अधिकारियों के बेसिक में 50 फीसदी डीए मर्जर संबंधी प्रस्ताव पर स्वीकृति लेने के लिए कोल इंडिया सप्ताह भर के अंदर संचिका कोयला मंत्रालय भेजेगा। बिना इस प्रक्रिया को अपनाये इसे लागू नहीं किया जा सकता है। सनद रहे कि केंद्रीय कैबिनेट ने सशर्त इसके लागू करने की सहमति दी थी। शर्त के अनुसार कोल इंडिया बोर्ड इसे पहले ही पास कर चुका है। इसका लाभ जनवरी 07 से मिलेगा। इससे करीब 16 हजार कोयला अधिकारी लाभान्वित होंगे।ड्ढr प्रोन्नति के लिए डीपीसी शुरूड्ढr इ-2 और इ-4 श्रेणी के अधिकारियों को कलस्टर योजना के तहत प्रोन्नति देने के लिए शुक्रवार से सीएमपीडीआइ में डीपीसी शुरू हुआ। कमेटी के अध्यक्ष इसीएल के सीएमडी एस चक्रवर्ती हैं। अन्य सदस्यों में एसइसीएल और डब्ल्यूसीएल के डीटी एमपी दीक्षित एवं केके शरण तथा एमसीएल के डीपी जीडी गुलाब हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कर्मियों को इंसेंटिव या इंक्रीमेंट दे सीसीएल