अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ठेकेदार के अपहृत बेटे का सुराग नहीं

अपहरण के 24 घंटे बाद भी ठेकेदार पुत्र निशांत कुमार उर्फ किंशु (13) का पुलिस कोई सुराग नहीं खोज सकी है। अनुसंधान और छापेमारी तो जारी है लेकिन नतीजा अब तक सिफर ही रहा। इस बीच सिटी एस.पी. अनवर हुसैन शनिवार को दिन में अनुसंधान करने फुलवारीशरीफ पहुंचे। वहां उन्होंने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उन्हें ढांढ़स भी बंधाया। साथ ही किंशु के पिता ठेकेदार सुरेन्द्र प्रसाद प्रियदर्शी से बंद कमरे में करीब 45 मिनटों तक पूछताछ की। पुलिस के साथ ही किंशु के परिजनों ने भी अपहर्ताओं द्वारा फिरौती मांगे जाने से इनकार किया है।ड्ढr ड्ढr इस बाबत सिटी एसपी ने कहा कि पुलिस अपना काम कर रही है। यह चुनौती है। हर बिंदुओं को ध्यान में रख कर तहकीकात की जा रही है। इधर किंशु के पिता के साथ ही पुलिस भी मान रही है कि अपहरण की जड़ में बिड़ला कॉलोनी कोऑपरेटिव सोसायटी के चुनाव को लेकर हुआ विवाद है। इस मामले में अगले अप्रैल को कोर्ट का फैसला भी होने वाला है। दरअसल बिड़ला कॉलोनी में ‘वित्त विभाग सहकारिता प्राइवेट लिमिटेड’ नामक कोऑपरेटिव संस्था वर्षो से चल रही है। इसी के लिए हुए चुनाव में सुरेन्द्र और मंटू व अन्य के बीच विवाद चल रहा है। सुरेन्द्र के अनुसार चुनाव कागज पर ही करा लिये गये थे। इसको लेकर उन्होंने न्यायालय की शरण ली थी। हालांकि कोर्ट के फैसले से ठीक पहले मंटू, रिंटू पंकज आदि ने मिल कर उनके बेटे को अगवा कर लिया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ठेकेदार के अपहृत बेटे का सुराग नहीं