DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोबाइल फोन धूम्रपान से चयादा खतरनाक

ाफी लंबे समय तक अत्यधिक मोबाइल फोन का इस्तेमाल करना धूम्रपान से भी यादा खतरनाक हो सकता है। लंदन में वरिष्ठ न्यूरोसर्जन प्रोफेसर खुराना ने इस बारे में शोध के आधार पर बताया कि लंबे समय से मोबाइल फोन का जरूरत से यादा इस्तेमाल करने से लगभग दस साल में कैंसर उत्पन्न हो सकता है। इतना ही नहीं मोबाइल फोन का दस साल या इससे अधिक समय तक इस्तेमाल करने से ब्रेन कैंसर होने का खतरा दोगुना हो जाता है। प्रो खुराना के अनुसार इस खतरे के मद्देनजर आने वाले समय में मोबाइल फोन के अत्यधिक इस्तेमाल से मरने वालों की संख्या धूम्रपान से मरने वालों की संख्या से अधिक हो जाएगी। उन्होंने नसीहत दी कि लोगों को मोबाइल फोन का इस्तेमाल सिर्फ जरूरत भर के लिए करना चाहिए और सरकारों तथा मोबाइल कंपनियों को इसके विकिरण के खतरे को कम करने की दिशा में कारगर कदम उठाने चाहिए खासकर युवाआें को इस खतरे से बचाने के लिए क्योंकि किशोरवर्ग विकिरण के खतरे से सबसे पहले प्रभावित होते हैं। प्रोफेसर खुराना ने कहा कि अगर सरकारों और उद्यमियों ने इस दिशा में कारगर उपाय नहीं किए तो हम आने वाले समय में ऐसे खतरे की आेर बढ़ रहे हैं जिसकी आहट फिलहाल सुनाई नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि अगर अभी तुरंत नहीं चेते तो फिर आने वाले समय में बहुत देर हो चुकी होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोबाइल फोन धूम्रपान से चयादा खतरनाक