अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली पुलिस ने मृतक का बयान दर्ज किया!

दिल्ली पुलिस ने सड़क दुर्घटना के एक मामले को सुलझाने के लिए एक मृतक का बयान दर्ज किया है। दिल्ली में शेख अजिबुल खान की एक सड़क दुर्घटना में 12 दिसंबर 1ो मौत हो गई थी। पुलिस रिकार्ड के अनुसार खान की मौत के एक साल बाद पुलिस ने उनका बयान दर्ज किया। गौरतलब है कि 15 नंवबर 1ो साइकिल सवार खान को सड़क पर एक वाहन ने टक्कर मारा था। ठीक उसी समय वीरेन्द्र दत्त नामक एक व्यक्ित अपनी कार से गुजर रहा था। उसने गाड़ी रोककर खान को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती करवाया। इसके बाद 12 दिसंबर 1ो खान की मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने खान की सहायता करने वाले वीरेन्द्र दत्त के विरुद्ध ही मामला दर्ज कर लिया। पुलिस ने दत्त को लगभग दो दशक पहले मृतक के बयान के आधार पर आरोपी माना। भारतीय दंड संहिता की धारा 27और 304 के तहत पुलिस ने दत्त के विरुद्ध मामला दर्ज किया। खुद को दोषमुक्त कहने वाले दत्त ने कहा, ‘जिस दिन दुर्घटना हुई थी उस दिन मेरे कार में दो रूसी इंजीनियर यात्रा कर रहे थे। मैंने गाड़ी रोककर खान को अस्पताल में भर्ती करवाया था।’ पुलिस ने इस मामले में 17 अन्य गवाहों के भी बयान दर्ज किए थे। कुछ गवाहों ने खान को धक्का मारने वाले वाहन चालक के रूप में दत्त की पहचान नहीं की थी। कई गवाहों ने कहा कि उन्होंने गाड़ी की पंजीकरण संख्या को नहीं लिखा था। जांच अधिकारी ने खान का बयान 20 नवंबर 10 को दर्ज किया जबकि खान की मौत 12 दिसंबर 1ो हो गई थी। इस संबंध में महानगर दंडाधिकारी कुलदीप नारायणन ने दत्त को आरोप मुक्त करते हुए कहा कि पुलिस अधिकारी ने इस मामले की जांच में लापरवाही बरती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिल्ली पुलिस ने मृतक का बयान दर्ज किया!