अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करोड़ों के घपले की राशि वसूल करेगी सरकार

विश्वविद्यालयों में करोड़ों के घोटालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। अवैध तरीके से नियुक्ित, प्रोन्नति समेत अन्य सुविधाआें में सरकार की राशि के दुरुपयोग की गई राशि को पब्लिक डिमांड रिकवरी एक्ट के तहत वसूली होगी। ये बातें मानव संसाधन विकास विभाग के प्रधान सचिव अंजनी कुमार सिंह ने ‘हिन्दुस्तान’ से खास बातचीत में कही। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में करोड़ों राशि के अवैध भुगतान को सरकार किसी परिस्थिति में सहन नहीं करेगी। 20 से 25 साल पूर्व नियुक्ित हुई इसलिए छोड़ दीजिए, ऐसा तर्क नहीं चलेगा। प्रधानसचिव ने कहा कि इसके लिए आठ अप्रैल को तमाम विवि के अधिकारियों के साथ बैठक हो रही है।ड्ढr ड्ढr इसमें ऑडिट की रिपोर्ट पर अब तक हुई कार्रवाई की समीक्षा की जाएगी। साथ ही कार्रवाई नहीं करने वाले विवि को उचित निर्देश दिया जाएगा। श्री सिंह ने कहा कि सीडब्लूजेसी 585रीडरों के वेतनमान में अवैध प्रोन्नति, शिक्षक एवं कर्मियों की अवैध नियुक्ित सभी पर आवश्यक कार्रवाई होगी। प्रधानसचिव के अनुसार सरकार जल्द ही विवि से वित्तीय शक्ित वापस लेगी। अब भुगतान, वेतनमान या नियुक्ित समेत किसी तरह की वित्तीय निर्णय के लिए विवि प्रशासन को सरकार से अनुमति लेनी होगी। ऐसा न करने पर सरकार राशि नहीं देगी। उन्होंने कहा कि अब रोटेशन के आधार पर प्राचार्य और विभागाध्यक्षों की नियुक्ित होगी। इसके लिए प्रस्ताव बना लिया गया है। ड्ढr सहायक पाट विकास पदाधिकारी सस्पेंडड्ढr सहरसा (नि.प्र.)। घोटाला कांड के अभियुक्त सहायक पाट विकास पदाधिकारी योगेन्द्र प्रसाद सिंह को विभाग ने सस्पेंड कर दिया है। वहीं घोटाले के मामलों के प्रकाश में आने के बावजूद पटसन विभाग के स्थानीय कर्मियों द्वारा पुन: फर्जी विपत्र के आधार पर मार्च लूट में राशि निकासी का प्रयास किये जाने की जानकारी मिली है। मालूम हो कि पटसन विभाग में लाखों का घोटाला हाल में उजागर होने पर थाना में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। इस प्राथमिकी के अभियुक्त सहा. पाट विकास पदा. योगेन्द्र सिंह को कृषि निदेशक डा. बी. राजेन्दर ने वित्तीय अनियमितता, कर्तव्यहीनता के आरोप में निलंबित करते हुए इन्हें निलंबन अवधि में पूर्णिया मुख्यालय में रहने का निर्देश दिया है। इनके स्थान पर सहरसा में कसबा के सहा. पाट विकास पदाधिकारी संजय शरण को पदस्थापित किया गया है। पटसन विभाग के संयुक्त निदेशक किरण देव कुमार ने निलंबन की पुष्टि की है। पटसन विभाग द्वारा मार्च लूट की मंशा से लगभग 35 लाख का वाउचर स्थानीय कोषागार में जमा कराया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करोड़ों के घपले की राशि वसूल करेगी सरकार