अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एससी आयोग की टीम ने जायजा लिया

रविवार, दलित महिला के बाल काट कर पिटाई मामले की जांच करने आज राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग की दो सदस्यीय टीम अदलचक डुमरिया गांव में पहुंची।ड्ढr ड्ढr आयोग के लोगों को देख कर महिलाएं अपने अपने घरों के अंदर चली गयी परंतु मनेर के थाना प्रभारी उदय प्रताप सिंह के द्वारा महिलाओं को समझाने पर महिलाएं घरों से बाहर निकल कर घटना के संबंध में टीम के सदस्य अनुसंधान अधिकारी ए के शर्मा तथा कार्यालय अधीक्षक डा. एस के सिंह के सामने बताया कि लालपरी देवी होली के चार दिन पहले आयी थी रामअयोध्या राय की पत्नी मनोरमा देवी का झाड़ फूक के माध्यम से इलाज किया था और जिससे तत्काल ठीक हो गयी थी अपनी पत्नी की सुधरती स्थिति को देख कर खुशी से राम अयोध्या राय ने लालपरी देवी के सम्मान पूर्वक वस्त्र आदि देकर सम्मान बिदाई किया था। लेकिन लालपरी देवी के जाने के बाद मनोरमा देवी की स्थिति और बिगड़ गयी और इस स्थिति के लिए रामअयोध्या राय और उसके परिवार वाले लालपरी देवी को दोषी माना और उसे बुला कर घटना को अंजाम दिया। इसके बाद महिलाओं ने आयोग के अपनी दुखड़ा सुनाते हुए कहा कि इस मामले में गांव वालों का क्या कुसूर है। हमलोगों की पकी हुई फसल बर्बाद हो रही है, सरसों की फसल खेत में झड़ रही है कोई भी पुरुष पुलिस के भय से गांव में नहीं आ रहे हैं। अगर यही हाल रहा तो दो चार दिनों में हमलोगों को घर जाना पड़ेगा कारण हमारी जरूरत की वस्तुएं समाप्त हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एससी आयोग की टीम ने जायजा लिया