अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अप्रैल में फिर जोर पकड़ेगी शिक्षक बहाली प्रक्रिया

दूसरे चरण मंे होने वाली शिक्षकों की बहाली की प्रक्रिया अप्रैल में फिर जोर पकड़ेगी। इस चरण में सूबे के प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक स्कूलों में लगभग 0 हजार शिक्षकों की बहाली होने वाली है। मध्य फरवरी के बाद यह प्रक्रिया जोर पकड़ी ही थी कि बिहार विधानमंडल का बजट सत्र शुरू हो गया। अन्य विभागों की तरह ही मानव संसाधन विकास विभाग के अधिकारी भी विधायकों और विधान पाषदोर्ं द्वारा सदन में पूछे जाने वाले सवालों का जवाब तैयार करने में लग गए।ड्ढr ड्ढr लिहाजा यह मामला डेढ़ माह के लिए ठंडे बस्ते में चला गया। लेकिन अब विधानमंडल का बजट सत्र खत्म होने वाला है। जानकारी के मुताबिक इस बीच दूसरे चरण की बहाली के लिए संशोधित नियोजन नियमावली विधि समीक्षा के बाद अंतत: लौट आई है। विभाग इसका शिद्दत से इंतजार कर रहा था। हालांकि विधि विभाग ने शहरों में शिक्षकों की होने वाली बहाली के मद्देनजर नगर विकास विभाग से भी इस पर राय ले लेने की शर्त लगाई थी। एक अधिकारी के मुताबिक ये सारी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं और अब एक बार जो प्रक्रिया आगे बढ़ेगी तो अभ्यर्थियों को नियुक्ित पत्र जारी करने के बाद ही रुकेगी। पिछले शिडय़ूल के तहत 3 मार्च से आवेदन पत्र लेने के लिए संभावित तिथि तय की गई थी। इसके बाद सीधे मेधा सूची का प्रकाशन और फिर नियुक्ित का कार्यक्रम था। बजट सत्र के चलते यदि यह सिलसिला नहीं रुकता तो अब तक अभ्यर्थियों को नियुक्ित पत्र जारी हो चुका होता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अप्रैल में फिर जोर पकड़ेगी शिक्षक बहाली प्रक्रिया