अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुर्गा सोरेन झामुमो के अधिकृत प्रत्याशी

झामुमो नेता दुर्गा सोरन गोड्डा से चुनाव लड़ने पर अडिग हैं। सोमवार को पहले तो कांग्रेस की ओर से उन्हें मनाने की कोशिश की गयी। जब वह नहीं माने, तो कांग्रेस ने उनके द्वारा जमा कराये गये पार्टी सिंबल पर आपत्ति उठायी गयी। इसके अलावा एक लंबित मामले का जिक्र नहीं करने का भी आरोप लगाया गया। लंबी जिरह के बाद ये दोनों आपत्तियां खारिा कर दी गयीं। इधर दुर्गा ने कहा है कि झारखंड में यूपीए का अस्तित्व नहीं है। यदि होता, तो बाबा (शिबू सोरन) तमाड़ में नहीं हारते।ड्ढr दोनों आपत्तियां खारिा: कांग्रेस की ओर से दुर्गा द्वारा जमा किये गये सिंबल पर आरओ के पास आपत्ति की गयी। कहा गया कि झामुमो सुप्रीमो ने चुनाव आयोग को अपने अधिकृत प्रत्याशियों की जो सूची सौंपी, उसमें दुर्गा का नाम नहीं है। इसके अलावा दुर्गा सोरेन ने अपने खिलाफ लंबित एक मामले की जानकारी शपथ पत्र में नहीं दी है। आरओ ने दोनों आपत्तियां खारिा कर दीं।ड्ढr मनाने दुमका पहुंचे फुरकान: इससे पहले गोड्डा से कांग्रेस प्रत्याशी फुरकान अंसारी सुबह में दुर्गा को मनाने दुमका में गुरुजी के आवास पर आये। फुरकान और दुर्गा के बीच करीब चार घंटे तक बंद कमर में चर्चा हुई। श्री अंसारी का कहना था कि यूपीए की एकता का सवाल है। पर श्री सोरन टस से मस नहीं हुए। शाम करीब पांच बजे दोनों साथ ही गोड्डा चले गये। बाहर निकलते हुए फुरकान ने केवल इतना कहा कि वह इस बातचीत से आशान्वित हैं।ड्ढr उन्हें मसले के सुलझने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि दुर्गा के चुनाव लड़ने से दोनों दलों को नुकसान होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुर्गा सोरेन झामुमो के अधिकृत प्रत्याशी