अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतगणना में गड़बड़ी का आरोप कई प्रत्याशियों ने जताया विरोध

रांची नगर निगम के लिए डाले गये वोटों की गिनती जैसे-तैसे पूरी कर ली गयी। लगभग 72 घंटे तक चली मतगणना के दौरान जो हालात रहे, उसे लेकर जगह-जगह विरोध के स्वर उठ रहे हैं। प्रत्याशियों और उनके समर्थकों का आरोप है कि कई ऐसे बैलेट पेपरों की गिनती की गयी, जिनपर पीठासीन पदाधिकारी के हस्ताक्षर नहीं थीं। काउंटिंग एजेंटो की आपत्तियों के बावजूद ऐसे बैलेट पेपरों को रद्द नहीं किया गया। वार्ड 25, 26 और 27 के बैलेट पेपरों की गिनती में इस तरह के आरोप सामने आये हैं। हालांकि शनिवार को उक्त वार्ड के कई प्रत्याशियों ने मौके पर इसका विरोध भी किया। लेकिन इसका असर आरओ पर नहीं हुआ।ड्ढr वार्ड 27 की प्रत्याशी बेबी देवी ने मतगणना कार्य में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। इस संबंध में उन्होंने उप निर्वाचन पदाधिकारी सीके सिंह औंर जिला निर्वाचन पदाधिकारी अविनाश कुमार को ज्ञापन सौंपकर दुबारा मतगणना कराने की मांग की है। बेबी देवी ने आरोप लगाया है कि इस वार्ड के सभी बूथों के मतपत्रों में बिना पीठासीन पदाधिकारी के हस्ताक्षर वाले बैलेट पेपरों की गिनती की गयी है। कई बैलेट बाक्स में तो मतपत्र मतदाताओं की संख्या से भी ज्यादा निकले हैं।ड्ढr इधर मतगणना समाप्त होने के करीब 12 घंटे तक वार्ड 25 का परिणाम घोषित नहीं किया गया। कारण क्या है, पूछने पर सभी अधिकारी जवाब देने से कतराते रहे। सभी अधिकारियों का यही कहना था घोषणा हो जायेगी। सभी प्रत्याशियों को यही जानकारी दी गयी कि 150 वोट में गड़बड़ी हुई है और इसकी जांच की जा रही है। लेकिन जांच कैसे और कब हुई इसका पता न तो प्रत्याशियों को ही चला और न ही किसी अन्य को। रात के करीब 2.45 बजे यह पता चला कि वार्ड 25 से मो असलम जीत गये हैं। हालांकि इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गयी। देर रात तक मो असलम को प्रमाण पत्र भी नहीं दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मतगणना में गड़बड़ी का आरोप कई प्रत्याशियों ने जताया विरोध