DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जरूरत पड़ी तो राहुल भी जाएंगे जेल:सोनिया

नानाराव पार्क में इंदिरा गांधी की याद ताजा करते हुए सोनिया ने कांग्रेसियों से जेल भरने का आह्वान किया। उन्होंने अपनी कमजोरी को भी उसी साहस से उठाते हुए संगठन पर सीधा प्रहार किया। राहुल गांधी ने प्रदेश के दलितों और युवाओं की एक जैसी कहानी बताते हुए कहा कि कांग्रेसी इसको बदलें तभी पार्टी आगे बढ़ पाएगी। कांग्रेस अधिवेशन के दूसरे दिन पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बेहद सधे अंदाज में दल के बड़े नेताओं को आड़े हाथों लिया। वह इस तर्क से हामी भरती नहीं दिखीं कि प्रदेश में जातिवादी और सांप्रदायिक राजनीति के कारण ही कांग्रेस का यह हाल हुआ है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि वे इस तर्क से संतुष्ट नहीं हैं। कहीं न कहीं हमसे भी भूल हुई है, कमजोरी रह गई है। मजबूत संगठन के बिना सफलता संभव नहीं है, संगठन कमजोर हुआ है और उसकी एक सीधी वजह यह रही है कि संगठन से ज्यादा हम अपनी चिंता करने लगे हैं। उन्होंने साफ चेतावनी दी कि हम सब एक नाव पर सवार है, नाव बचेगी तो हम बचेंगे। केन्द्र सरकार की करीब एक दर्जन ऐसी योजनाओं का हवाला सोनिया गांधी ने दिया जिनमें करोड़ों-करोड़ रुपए प्रदेश सरकार को दिए गए हैं, कांग्रेसियों का यह फर्ज बनता है कि वे सुनिश्चित करें कि ये योजनाएँ ठीक से लागू हो रही या नहीं। उन्होंने कांग्रेसियों को आम नागरिक की आवाज बनने को कहा साथ ही यह भी कहा कि इन योजनाओं का हिसाब उन्होंने प्रदेश सरकार से माँगना होगा। इसके लिए संघर्ष करना होगा और जेल जाना होगा। कांग्रेसी जेल जाने को तैयार रहें, इसके बिना कुछ होने वाला नहीं है। उन्होंने कहा जरूरत पड़ी तो राहुल गांधी भी उनके साथ जेल जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जरूरत पड़ी तो राहुल भी जाएंगे जेल : सोनिया