अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेंट रेट को आग लगाते पेशेवर

राजधानी और एनसीआर के प्रमुख शहरों में रेंट रेट में आग लगा रहे हैं पेशेवर। डॉक्टर, आ*++++++++++++++++++++++++++++र्*टेक्ट, वकील, शेयर बाजार के एक्सपर्ट, विज्ञापन पेशेवर, सीए वगैरह अपने लिए स्पेस ले रहे हैं बड़े पैमाने पर। काफी समय से ठंडा सा पड़ा हुआ कमर्शियल रेंट स्पेस इसी कारण से अब खासा महंगा मिल रहा है। जानकार कह रहे हैं कि राजधानी में सीलिंग के असर के कारण ही पेशेवरों ने अपने लिए बेहतर कमर्शियल सेंटरों का रुख करना शुरू कर दिया है। अगर बात राजधानी की ही करें तो इस वक्त इधर औसत कमर्शियल स्पेस का रेंट चल रहा है 60 रुपये प्रति गज से लेकर 200 रुपये तक। किसी पुराने कमर्शियल सेंटर में स्पेस मिल जाता है 30 रुपये तक। गुड़गांव को छोड़कर सभी एनसीआर शहरों में कमर्शियल स्पेस करीब 55 रुपये प्रति गज के हिसाब से मिल रहा है। पुराना स्पेस 20 रुपये प्रति गज के हिसाब से मिलता है। रीयल एस्टेट फर्म आम्रपाली ग्रुप के अध्यक्ष अनिल शर्मा कहते हैं कि दिल्ली और गुड़गांव में कमर्शियल रेंट रेट बराबर है। वे कहते हैं कि सीिलग के अलावा रेंट स्पेस को लेकर इसलिए भी मारामारी मची हुई है क्योंकि बाजार में पर्याप्त कमर्शियल स्पेस आता ही नहीं। दरअसल सारा मामला मांग और आपूर्ति से जुड़ा हुआ है। रीयल एस्टेट सूत्रों का कहना है कि राजधानी के भीखाजीकामा प्लेस, नेहरू प्लेस, मयूर विहार-फेस वन, रोहिणी और बाकी जगहों में दो साल पहले तक कमर्शियल स्पेस हमेशा मिलता रहता था। अब ऐसी बात नहीं है। जाहिर है कि इसीलिए इसके भाव 60 प्रतिशत तक बढ़ गए हैं। इसके बावजूद भी मांग घट नहीं रही है। अम्बाजी कंस्ट्रक्शन कम्पनी के निदेशक संदीप तनेजा ने बताया कि राजधानी में हुई सीलिंग का सकारात्मक प्रभाव एनसीआर शहरों में देखा जा सकता है। इनमें दिल्ली के बहुत से पेशेवरों ने अपने दफ्तर खोल लिए हैं। इन्हें लगता हैं कि इनके दिल्ली के क्लायेंट इनके पास आते रहेंगे। वैसे भी अब गाजियाबाद, नोएडा, गुड़गांव, ग्रेटर नोएडा वगैरह में बेहतरीन कमर्शियल सेंटर बनकर तैयार हो गए हैं। इनमें हजारों पेशेवर और दूसरे व्यापारी अपना कामकाज कर रहे हैं। रीयल एस्टेट एजेंट प्रमोद चोपड़ा कहते हैं कि बहुत सारे पेशेवरों ने बेहतरीन कमर्शियल स्पेस इसलिए भी लेना चालू कर दिए हैं क्योंकि इन्हें कहीं न कहीं लगता है कि बेहतर जगह पर आफिस लेने से उनका बिजनेस चमक सकता है। जानकारों का कहना है कि सीए प्राय: 800 वर्ग गज का स्पेस लेते हैं और डॉक्टर अपना क्लीनिक खोलने के लिए लेते हैं कम से कम दो हजार वर्ग गज का स्पेस।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रेंट रेट को आग लगाते पेशेवर