DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑस्ट्रेलिया में भरपूर मौका न मिलने का मलाल : सहवाग

चेन्नई टेस्ट मैच में तिहरा शतक लगाकर इतिहास रचने वाले विरेंदर सहवाग को इस बात का मलाल है कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे में पहले दो टेस्ट मैचों में नहीं खिलाया गया था।दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान सहवाग ने सोमवार को अपनी आईपीएल टीम के एक कार्यक्रम में कहा, ‘मैं फिट था। लेकिन मुझे मौका नहीं दिया गया। मुझे इस बात का भारी मलाल है।’ सहवाग को एडीलेड में तीसरे टेस्ट में टीम में जगह दी गई। तब उन्होंने 151 रन की पारी खेलकर भारत की पराजय टाली थी। अपनी मौजूदा फार्म से बेहद खुश नजफगढ़ के नवाब ने कहा, ‘मेरी अब कोशिश रहेगी कि अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाऊं।’ उन्होंने कहा, ‘इस फॉर्म को एकदिवसीय मैचों तथा आईपीएल की 20-20 चैम्पियनशिप में बरकरार रखना चाहता हूं।’ उन्होंने साथ ही कहा, ‘मेरी फॉर्म को लेकर भी काफी सवाल उठाए गए थे। लेकिन मैंने खुद को साबित कर दिखाया है।’ सहवाग ने कहा, ‘भले ही कहा जा रहा हो कि चेन्नई का विकेट सपाट था। लेकिन तिहरा शतक मायने रखता है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रन बनाना और विकेट लेना मुश्किल होता है। आखिर टीम के लिए भी व्यक्ितगत प्रदर्शन महत्वपूर्ण होता है।’ उन्होंने कहा, ‘टेस्ट और वनडे क्रिकेट एकदम अलहदा हैं। टेस्ट में रन बनाने का यह मतलब नहीं है कि आपको वनडे में जरूर मौका दिया जाएगा।’ ‘सीनियर-जूनियर मसले पर वनडे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ किसी विवाद के बारे में पूछे जाने पर सहवाग ने कहा, ‘यह सब मीडिया के दिमाग की उपज है। टीम में ऐसा कुछ भी नहीं है। हम सब टीम में एक परिवार की तरह हैं।’ सहवाग ने अहमदाबाद में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के लिए कहा कि हमने वहां पिछला मैच श्रीलंका के खिलाफ खेला था। यह मैच चौथे दिन समाप्त हो गया था।उन्होंने उम्मीद जतायी कि भारतीय टीम वहां अपना पिछला रिकार्ड बरकरार रखेगी। चेन्नई में सचिन तेंदुलकर की असफल रहने के सवाल को वीरू बड़ी विनम्रता से टाल गए। उन्होंने कहा, ‘मेरी यह हैसियत नहीं है कि मैं इतने महान खिलाड़ी पर कोई टिप्पणी कर सकूं। उनके बारे में कुछ कहने की जरूरत नहीं है। उनके बारे में तो उनके रिकार्ड ही बोलते हैं। वह कैसा खेलते हैं। उनका प्रदर्शन कैसा रहता है इस पर टिप्पणी करने वाला मैं कौन होता हूं।’ डेयल डेविल्स के आइकन खिलाड़ी सहवाग ने कहा, ‘आईपीएल में विश्व स्तरीय खिलाड़ियों का एक दूसरे के साथ खेलना क्रिकेट के लिए ही अच्छा है।’ उन्होंने इस बात से इंकार किया कि टीम के मुख्य गेंदबाजों के चोटिल होने की सूरत में आक्रमण कमजोर हो जाएगा। उन्होंने कहा, हमारे पास काफी विकल्प हैं। ऐसी सूरत में हम स्थानीय गेंदबाजों को मौका दे सकते हैं।’ क्रिकेट को लोकप्रिय बनाने के लिए फिल्मी सितारों का सहारा लेने के सवाल पर सहवाग ने कहा, ‘पब्लिक को अगर सौ रुपए के टिकट पर अपने पंसदीदा क्रिकेट खिलाड़ियों और फिल्मी सितारों को देखने को मिले तो इससे बढ़िया क्या हो सकता है।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘ऑस्ट्रेलिया में भरपूर मौका न मिलने का मलाल’