अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवी और कैफ में इलेवन के लिए जोराजोरी

लगभग छह साल पहले इंग्लैंड में दो युवा तुर्क भारत की एकदिवसीय सीरीज जीत के हीरो बने थे। इनके जांबाज प्रदर्शन से कप्तान सौरभ गांगुली इतने खुश हुए थे कि उन्होंने लार्डस की बॉलकनी पर अपनी शर्ट उतार कर हवा में लहरा दी थी। इस महान जीत के हीरो युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ के बीच अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अहमदाबाद में 3 अप्रैल से होने वाले दूसरे टेस्ट मैच में मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी के स्थान के लिए संघर्ष शुरू हो गया है। पंजाब और उत्तर प्रदेश की इस जोड़ी के बीच इंग्लैंड के खिलाफ 13 जून 2002 को नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में 121 रन की साझेदारी ने 146 रन पर पांच विकेट गंवा चुकी भारतीय टीम को 325 के लक्ष्य के पार पहुंचाया था। भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के बीच इस जानदार प्रदर्शन की यादें अब भी ताजा हैं। इससे पहले ये दोनों ही भारत की अंडर-1विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रह चुके हैं। कैफ उस टीम के कप्तान थे। अब ये दोनों जोड़ीदार सचिन तेंदुलकर के ग्रोइन इंजरी के कारण न खेलने से खाली हुए मिडिल ऑर्डर के स्थान के लिए आमने-सामने हैं। कैफ और युवराज को दो सीजन पहले वेस्टइंडीज में दो मिडिल ऑर्डर स्थान भरने का मौका मिला था। तब भी तेंदुलकर चोटिल थे और सौरभ गांगुली को ड्रॉप कर दिया गया था। कैफ ने सेंट लूसिया में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में कैफ ने नॉटआउट 148 रन बनाए थे। वह 56.50 की औसत से 226 रन बना कर दूसरे नंबर पर रहने के बाद भी वह टेस्ट टीम से बाहर हो गए थे। युवराज इस सीरीज में 17.33 की औसत से फ्लॉप रहे थे, लेकिन पिछले सीजन जब पाकिस्तान की टीम भारत के दौरे पर आई थी तो युवराज को टेस्ट में खेलने का मौका मिल गया। बंगलुरु में उन्होंने 16रन बनाए, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर वह दो टेस्ट मैचों में 17 रन की बना सके थे। दूसरी तरफ कैफ गर्दिश में रहे और एकदिवसीय टीम से भी उनकी छुट्टी हो गई। 27 साल के कैफ ने भारतीय टेस्ट टीम में जगह बनाने में घरेलू सीजन का पूरा उपयोग किया है। उन्होंने 60 रन प्रति पारी की औसत से लगभग एक हजार रन फर्स्ट क्लॉस क्रिकेट में बनाए। टेस्ट क्रिकेट में कैफ और युवराज दोनों ही का औसत 32 से कुछ अधिक रहा है। लेकिन युवराज ने 13 टेस्ट खेल चुके कैफ से टेस्ट अधिक खेले हैं। दोनों ही बेहतरीन फील्डर हैं, लेकिन दोनों में से कोई एक ही अहमदाबाद टेस्ट में इलेवन में खेल पाएगा, वो भी तब भारत चेन्नई टेस्ट की तरह से चार गेंदबाजों के साथ ही उतरने की नीति पर चले। भारतीय टीम मैनेजेमेंट के लिए यह तय करना आसान नहीं होगा कि युवराज और कैफ में से किसे खेलने का मौका दे?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: युवी और कैफ में इलेवन के लिए जोराजोरी