DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्रिपक्षीय वार्ता से ही आतंक का अंत : हिजबुल

श् मीरी आतंकवादी संगठनों की मुत्ताहिदा जेहाद कौंसिल के स्वयंभू सवर्ोच्च कमांडर और हिजबुल मुजाहिदीन के प्रमुख सैयद सलाउद्दीन ने कहा है कि यदि भारत त्रिपक्षीय वार्ता को राजी हो जाए. तो कश्मीरी मुजाहिदीन अपना सशस्त्र संघर्ष छोड़ सकते हैं। सलाउद्दीन ने आतंकवादियों द्वारा संघर्ष का रास्ता छोड़ने के लिए कश्मीर मसले का समाधान संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावों के आधार पर करने को कहा।सोमवार शाम एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सलाउद्दीन ने कहा कि कश्मीर की जनता उसके विभाजन या स्वायत्ता की बात नहीं मंजूर करेगी। सलाउद्दीन ने कहा कि मुजाहिदीन पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेई की संघर्षविराम की दो पेशकश ठुकरा चुके हैं। सलाउद्दीन ने दावा किया कि उनका आंदोलन सफल होने ही वाला था कि तभी तत्कालीन पाकिस्तानी सरकार के अफसोसजनक रवैया अख्तिायार कर लेने के कारण कश्मीर के मकसद को भारी नुकसान चुकाना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: त्रिपक्षीय वार्ता से ही आतंक का अंत : हिजबुल