DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

16 वें दिन भी वकीलों ने न्यायिक कार्य नहीं किया

सरकार द्वारा कोर्ट फीस में अत्यधिक वृद्धि किए जाने के खिलाफ पटना जिले के वकीलों ने सोमवार को भी न्यायिक कार्य नहीं किए। जिसके कारण पटना, दानापुर, मसोढ़ी, बाढ़ और पटना सिटी सिविल कोर्ट की अदालतों में न्यायिक कार्य पुरी तरह बाधित रहा। बिहार विधि लिपिक महासंघ ने पटना सिविल कोर्ट परिसर में सरकार के खिलाफ नारेबाजी व प्र्दशन करते हुए महाधिवक्ता पीके शाही का पुतला भी दहन किया। बिहार युवा अधिवक्ता कल्याण समिति के वकीलों ने शहर के कई जगहों पर नुक्कड़ सभा की। जिला अधिवक्ता संघ और बिहार युवा कल्याण समिति के पटना जिला ईकाई के वकीलों ने अदालतों में न्यायिक कार्य नहीं किया। वकीलों को मोदी से बात करने की सलाहड्ढr पटना (वि.सं.)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वकीलों की मांगों पर सकारात्मक रूख दिखाते हुए इस संबंध में उपमुख्यमंत्री से बात करने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री ने बार काउंसिल के पूर्व अध्यक्ष वरीय अधिवक्ता राजेन्द्र प्रसाद सिंह, समन्वय समिति के संयोजक योगेशचन्द्र वर्मा लॉयर्स एसोसिएशन के महासचिव राजीव राय के नेतृत्व में गए एक शिष्टमंडल से इस संबंध में वार्ता की। इसके पहले हाईकोर्ट स्थित अम्बेदकर चौक से वकीलों का एक जुलूस बिहार विधान सभा के लिए प्रस्थान किया। हड़ताली चौक पर पहुंचने के साथ ही जुलूस को पुलिस ने रोक दिया। बाद में वकीलों का एक शिष्टमंडल विधान सभा स्थित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कक्ष में जाकर मुलाकात की। वरीय अधिवक्ता श्री सिंह और श्री वर्मा ने मुख्यमंत्री को कोर्ट फीस में हुई बढ़ोत्तरी केबारे में बताया। उनलोगों ने सरकार से अविलम्ब इसे वापस लेने का अनुरोध किया।ड्ढr ड्ढr मुख्यमंत्री ने वकीलों से कहा कि वे उनके दुश्मन नहीं हैं। लेकिन इस बारे में उपमुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी से ही वर्ता करना बेहतर होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे भी इस बारे में श्री मोदी से बात करेंगे। उन्होंने यह स्पष्ट की दिया कि मौजूदा विधान सभा सत्र में कोर्ट फीस अधिनियम में किसी प्रकार का संशोधन कराना संभव नहीं हो पाएगा। मुख्यमंत्री से मिलकर वापस आने के बाद श्री वर्मा ने बताया कि सरकार से अपेक्षा के अनुरूप कोई स्पष्ट आश्वासन नहीं मिलने के कारण वकीलों में आक्रोश व्याप्त है। बिहार बार काउंसिल के पूर्व उपाध्यक्ष बालेश्वर प्रसाद शर्मा, वरीय अधिवक्ता मनन कुमार मिश्र, अधिवक्ता परिषद के राष्ट्रीय मंत्री प्रमोद कुमार सिन्हा, अधिवक्ता मंच के पूर्व महामंत्री श्रीप्रकाश श्रीवास्तव सहित अनेक वकीलों ने आन्दोलन को सफल बताते हुए कहा कि वकील सरकार के सामने झुकने वाले नहीं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 16 वें दिन भी वकीलों ने न्यायिक कार्य नहीं किया