अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोटेरा पर वीरू को घेरने की योजना

दक्षिण अफ्रीकी टीम ने गुरुवार से यहां शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय सलामी बल्लेबाज विरेंदर सहवाग को घेरने की विशेष योजना बनाई है। सहवाग ने चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट में मेहमान गेंदबाजों की जोरदार ठुकाई करते हुए तिहरा शतक बनाया था। दक्षिण अफ्रीकी कोच मिकी आर्थर ने कहा, ‘हमने चेन्नई में सहवाग की शानदार पारी देखी। वह गेंद को बहुत शानदार तरीके से कट करते हैं। हमने उनकेशरीर के पास तेज तथा उछाल भरी गेंदबाजी करने की योजना बनाई है। ताकि हमें उनको आउट करने का यादा मौका मिल सके। हमने देखा कि सहवाग ने पहला पुल शॉट तब लगाया जब वह 312 रन बना चुके थे।’ आर्थर ने कहा, ‘चेन्नई में टेस्ट इतिहास का सबसे तेज तिहरा शतक लगाने वाले सहवाग को हमारे तेज गेंदबाजों की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा।’ गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज केचेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट मैच में सहवाग ने बेहद आक्रामक बल्लेबाजी करते हुए मात्र 278 गेंदों में ही तिहरा शतक बना डाला था। अपनी इस पारी में उन्होंने शानदार 31रन बनाए थे। आर्थर ने कहा, ‘यह देखने वाली बात होगी कि सहवाग अफ्रीकी तेज गेंदबाजों की रणनीति से कैसे निपटते हैं।’ दक्षिण अफ्रीकी टीम के यहां पहले अभ्यास सत्र के बाद पत्रकारों से बातचीत में आर्थर ने कहा कि उन्होंने अन्य बल्लेबाजों के लिए भी रणनीति बनाई है। उन्होंने कहा, ‘बेजोड़ बल्लेबाजों से सजी भारत की विश्वविख्यात बल्लेबाजी के खिलाफ ‘बाउंसरों की बारिश’ करने की योजना है। दक्षिणी अफ्रीकी क्रिकेट टीम के कोच ने कहा है कि दूसरे टेस्ट में उनके तेज गेंदबाज ‘बाउंसरों’ के जरिए भारतीय बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा लेंगे। दूसरे टेस्ट मैच के लिए अपनी रणनीति के बारे में दक्षिण अफ्रीकी कोच ने कहा कि भारतीय आेपनरों के खिलाफ यादा से यादा शॉर्ट पिच गेंदबाजी करने की योजना तैयार की गई है। ताकि वे खुद को असहज महसूस करें और अतिरिक्त प्रयास में हमें विकेट दे दें। दक्षिण अफ्रीकी कोच ने सरदार पटेल स्टेडियम के विकेट पर घास होने पर खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा, ‘वैसे उनकी टीम किसी भी तरह की पिच पर खेलने के लिए पूरी तरह तैयार है। हमारे पास गेंद को स्विंग और रिवर्स स्विंग कराने वाले बेहतरीन तेज गेंदबाजों के साथ एक अच्छा स्पिनर भी है। इसलिए हमारे लिए चिन्ता की कोई बात नहीं है।’ आर्थर ने कहा कि विकेट पर थोड़ी घास है और मौसम सूखा है। लिहाजा यहां की स्थितियां भी दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन और जोहान्सबर्ग जैसी ही हैं। यह पूछने पर कि अगर विकेट तेज गेंदबाजों को मदद नहीं करेगी तो उनकी योजना का क्या होगा आर्थर ने कहा, ‘विकेट कैसा है यह देखने के लिए हमें मैच की पहली बॉल तक इंतजार करना होगा। इस समय यह अच्छा नजर आ रहा है। इस पर थोड़ी घास भी है।’ आर्थर ने एसजी ब्रांड की गेंदों का सवाल नजरअंदाज कर दिया। यह गेंदें टेस्ट सीरीज में इस्तेमाल की जा रही हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मोटेरा पर वीरू को घेरने की योजना