अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फैसले से तिब्बती शरणार्थी और उनके दोस्त खुश

भारतीय फुटबाल टीम के कप्तान बाईचुंग भूटिया द्वारा आेलंपिक मशाल रिले में भाग नहीं लेने की घोषणा से उनकेगृह राय सिक्िकम में रह रहे तिब्बती समुदाय बेहद खुश है। सिक्िकम तिब्बत युवा क्लब के अध्यक्ष जिंबा पिंचो ने यहां बताया, ‘सिक्िकम में रह रहे तिब्बती भूटिया के इस कदम से काफी खुश हैं।’ गौरतलब है कि इस समय सिक्िकम में करीब पांच हजार तिब्बती शरणार्थी रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि यहां रह रहे सभी तिब्बती और भूटिया के दोस्त भी उनकेइस निर्णय से खुश हैं। भूटिया के करीबी दोस्त शेरपा लीपचा ने भी उनके इस निर्णय की प्रशंसा की है। लीपचा ने कहा, ‘भूटिया ने मुझे बताया कि वह आेलंपिक मशाल रिले से खुद को अलग कर रहे हैं। क्यांेकि उन्हें तिब्बती लोगों के समस्याआें की चिंता है।’ भूटिया के चाचा करमा टी भूटिया ने कहा कि वह भूटिया की योजना से सहमत नहीं है। उन्होंने कहा, ‘वह अपने निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हैं। अगर इसमें फुटबाल से संबंधित कोई बात होती मैं उन्हें सलाह देता।’ गौरतलब है कि भूटिया ने सोमवार को कहा था कि वह खुद को आेलंपिक मशाल रिले से खुद को अलग रखेंगे। उन्होंने संवाददाताआें से कहा था, ‘मुझे तिब्बतियों से सहानुभूति है।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तिब्बती शरणार्थी और उनके दोस्त खुश