DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेलिब्रिटी नहीं बढ़ातीं बिक्री!

पेप्सी के नए विज्ञापन में आजकल रनबीर क पूर, दीपिका पादुकोण और शाहरुख खान नजर आ रहे हैं। जाहिर है कि विज्ञान को नए सितारों के साथ पेश करने का मकसद उत्पाद की बिक्री बढ़ाना है। तो क्या ग्राहक सेलिब्रिटी को देखकर उत्पाद खरीदने का फैसला करते हैं। एक ताजा बाजार सर्वे के मुताबिक, सेलिब्रिटी से सजे विज्ञान लोगों का ध्यान जरूर खींचते हैं, लेकिन उनकी वजह से उत्पाद की बिक्री बढ़ेगी इस बात की कोई गारंटी नहीं है। अंतरराष्ट्रीय शोध एजेंसी आईएमआरबी ने पीआर कंपनी आईपीएएन के साथ मिलकर ग्राहकों के मिजाज को समझने के लिए देश के कई बड़े, मझोले व छोटे शहरों का अध्ययन किया। सर्वे में मुंबई, दिल्ली, कोलाकाता, चेन्नई, लखनऊ, इंदौर, अजमेर, मदुरै, कटक और रांची जैसे बड़े मझोले और छोटे शहरों में रहने वाले लोगों की राय ली गई। सर्वे रिपोर्ट के मुताबिक, दस में से आठ लोगों ने कहा कि उन्हें बड़े स्टारों वाले विज्ञापन अच्छी तरह याद रहते हैं, लेकिन इससे उनकी खरीददारी पर कोई फर्क नहीं पड़ता। उनका साफ कहना था कि वे सेलिब्रिटी के विज्ञापन की वजह से कभी कोई उत्पाद को नहीं खरीदते हैं। दरअसल ग्राहकों के लिए सबसे अहम बात है, उत्पाद की गुणवत्ता और उसकी कीमत। सर्वे में 78 प्रतिशत लोगों ने कहा कि खरीददारी करते समय उनका सबसे ज्यादा ध्यान उत्पाद की क्वालिटी पर होता है। इसके बाद उत्पाद की कीमत दूसरी अहम कसौटी है। मात्र 3 प्रतिशत ने माना कि वे सेलिब्रिटी के विज्ञापन वाली वस्तुआें को खरीदना पसंद करते हैं। साफ है कि आज सेलिब्रिटी के विज्ञापन वाली चीजों की वह विश्वसनीयता नहीं रही जो कुछ दशक पहले हुआ करती थी। आज जब एक सेलिब्रिटी कई उत्पादों और कई ब्रांडों का विज्ञापन कर रहे हैं तो ग्राहकों का भ्रमित होना स्वाभाविक है। जीडब्ल्यूटी इंडिया के सीईआे कोलविन हेरिस कहते हैं, ‘किसी उत्पाद के लिए सेलिब्रिटी का चुनाव बहुत सोच-समझकर करना चाहिए। यह देखना बेहद जरूरी है कि स्टार की छवि और उसका व्यक्ितत्व उत्पाद से मेल खाता हो।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेलिब्रिटी नहीं बढ़ातीं बिक्री!