DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो एकड़ जमीन पर नौकरी : रिटोलिया

सीसीएल अब दो एकड़ जमीन के बदले एक व्यक्ित को नौकरी देगी। साथ ही कंपनी वर्ष 2008-0ो डिस्पैच ईयर के रूप में मनायेगी। इसके अलावा कर्मियों के लिए जवाहर लाल नेहरू अवार्ड फॉर गुड परफॉरमेंस योजना शुरू की जायेगी। मेडिकल रिइम्बर्समेंट नियम में भी संशोधन किया जायेगा। उक्त बातें सीएमडी आरपी रिटोलिया ने मंगलवार को संवाददाताओं से कही। उन्होंने बेहतर प्रदर्शन का श्रेय कर्मियों की लगन, मेहनत, राज्य सरकार, जिला प्रशासन और यहां के निवासियों के सहयोग को दिया। मौके पर निदेशक डॉ एके सरकार, आरके साहा एवं टीके चांद भी मौजूद थे। सीएमडी ने बताया कि अब तक दो एकड़ सिंचित एवं तीन एकड़ असिंचित भूमि में नौकरी देने का प्रावधान था। कंपनी दो गांवों को गोद लेकर इसे मॉडल विलेज के रूप में विकसित करेगी। अब तक :3:2 के प्रावधान के तहत 855 आश्रितों की नियुक्ित की गयी है। इसमें लंबित चार सौ मामलों को दो-तीन माह में निपटा दिया जायेगा। सेवानिवृत्त होनेवालों के लिए भी बेहतर योजना बनायी जा रही है। कंपनी ने इस वर्ष 47 मिलियन टन उत्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया है। कई खदानों की क्षमता बढ़ायी जायेगी। कंटीन्यूशन माइनर एवं हाइवॉल माइनर जैसी तकनीक की स्थापना खदानों में की जायेगी।ड्ढr उन्होंने बताया कि कंपनी ने सर्वाधिक टैक्स भी दिया है। कंपनी ने उपलब्धि हासिल कर विश्वबैंक की रिपोर्ट को गलत साबित कर दिया है। हर क्षेत्र में पिछले वर्ष की अपेक्षा वृद्धि हासिल की है। खान सुरक्षा पर ध्यान दिया गया। सामाजिक उत्तरदायित्व, सामुदायिक विकास, स्वास्थ्य एवं कल्याण पर विशेष जोर दिया गया। करीब 2851 कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया गया। कंपनी कमांड क्षेत्र में ऑपरेशन ज्योति, बालिका शिशु का उत्थान एवं बीपीएल परिवार को स्वास्थ्य कार्ड देने की योजना शुरू कर रही है। धुले कोयले के उत्पादन के लिए वाशरी की स्थापना की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो एकड़ जमीन पर नौकरी : रिटोलिया