DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब हत्या के मामले में फंसे अखंड प्रताप

आय से अधिक संपत्ति के मामले में पहले से ही शिकंजे में आए यूपी के पूर्व मुख्य सचिव अखंड प्रताप सिंह अब हत्या के एक मामले में फंसते नजर आ रहे हैं। सीबीआई इस मामले में उनकी भूमिका की पड़ताल करने की योजना बना रही है। दरअसल अखंड प्रताप सिंह ने दिल्ली विश्वविद्यालय के रीडर गोविन्द मिश्र के नाम से कई संपत्तियाँ खरीदी थीं। गोविन्द मिश्र की 12 साल पहले हत्या हो चुकी है। सीबीआई सूत्रों का कहना है कि अखंड प्रताप सिंह ने गोविन्द की वसीयत से भी फर्जीवाड़ा किया था। गोविन्द मिश्र की उस वक्त हत्या हो गई थी, जब वह अखंड के एक नजदीकी दोस्त के साथ विश्वविद्यालय जा रहे थे। बताया जाता है कि गोविन्द के नाम पर अखंड प्रताप ने कई संपत्तियां खरीदीं और वसीयत में फर्जीवाड़ा करके उसे अपनी बेटी के नाम करवा लिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब हत्या के मामले में फंसे अखंड प्रताप