DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गढ़वा में मुठभेड़, 8 नक्सली ढेर

रंका थाना क्षेत्र के बांदु गांव के समीप जंगल में सोमवार की देर रात एक बजे पुलिस -नक्सली मुठभेड़ में आठ नक्सली ढेर हो गये। मृतकों में सबजोनल कमांडर बसंत यादव और महिला दस्ता की कमांडर छोटकी भी शामिल हैं। बसंत रंका थाना क्षेत्र के आमाटाड़ और छोटकी विश्रामपुर (पलामू) की रहनेवाली थी। जबकि जगदीश और बिहारी यादव भी आमाटाड़ के रहनेवाले थे।ड्ढr ड्ढr पुलिस सूत्रों के अनुसार एरिया कमांडर ललन सिंह खरवार और राजेश भी मारा गया है। हालांकि उनके शव की पहचान नहीं हो पायी है। पुलिस ने घटनास्थल से एक एसएलआर, चार थ्री फिफ्टीन रायफल, चार थ्री नॉट थ्री (पुलिस रायफल), एक कार्बाइन, एक दो नाली बंदूक, एक पिस्तौल सहित कुल 12 आधुनिक हथियार बरामद किया। लगभग सवा चार सौ जिंदा कारतूस और एक क्िवंटल जिलेटिन (जेल-0) भी पुलिस के हाथ लगी है। इसके अलावा कई नक्सली साहित्य, वर्दी, जूता, चप्पल एवं अन्य सामान मिले हैं। यह कार्रवाई एसपी साकेत कुमार सिंह को मिली गुप्त सूचना के आधार पर की गयी।पुलिस के अनुसार 25-30 की संख्या मंे नक्सली ट्रैक्टर पर सामान लाद बांदु गांव से मखातु की आेर जा रहे थे। नक्सली ट्रैक्टर के पीछे-पीछे पैदल चल रहे थे। पुलिस उस मार्ग में पहले से घात लगाये बैठी थी। इसी बीच एक पुलिस पदाधिकारी ने टॉर्च जला उन्हंे देखने का प्रयास किया। नक्सलियांे ने गोली चलानी शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबीकार्रवाई की। लगभग आधा घंटा तक हुई मुठभेड़ में आठ नक्सली ढेर हो गये। पुलिस ने रोशनी के लिए तीन पैरा बम और तीन एचई बम का प्रयोग किया। मुठभेड़ का नेतृत्व एसडीपीआे सत्यंेद्र सिंह, रंका थाना प्रभारी मनीष लाल, भंडरिया थाना प्रभारी अमरनाथ, सीआरपीएफ डी 30 कंपनी सहायक समादेष्टा पीएन तिवारी, इंस्पेक्टर विजयपाल सिंह कर रहे थे।ड्ढr ड्ढr मंगलवार की सुबह तीन बजे एसपी साकेत कुमार सिंह और सीआरपीएफ के कमांडेंट बीके शर्मा भी अतिरिक्त बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस पदाधिकारियों के अनुसार तीन बजे गोलीबारी बंद हो गयी थी। उसके बाद पुलिस ने दस बजे दिन तक जंगलों में छापेमारी कर आठ नक्सलियों का शव और 12 हथियार बरामद कर लिया। घटनास्थल से दूर तालाब के किनारे कई नक्सली वर्दी, जूते और खून से सने कपड़े मिले। दस नक्सलियों के घायल होने की बात पुलिस कह रही है।ड्ढr ड्ढr बोकारो में मिले 83 बारूदी सुरंगड्ढr बोकारो थर्मल (बेरमो कार्यालय)। सीआरपीएफ के सहयोग से बोकारो पुलिस ने मंगलवार को जिला के नावाडीह प्रखंड के ऊपरघाट के पलामू- सारूबेड़ा पथ के एक किलोमीटर के दायरे में लगायी गयी लगभग 83 बारूदी सुरंग बेरमो अनुमंडल पुलिस ने निष्क्रिय कर दिया। पुलिस अधीक्षक प्रिया दुबे और अनुमंडल के एएसपी असीम विक्रांत मिंज ने बताया कि एक बड़ी घटना को अंजाम देने के उद्देश्य से पलामू- सारूबेड़ा मुख्य पथ के मेंजुरमरवा जंगल के निकट बीच सड़क के नीचे 30 किलोग्राम की तीन बारूदी सुरंग लगायी गयी थी। इसके आगे 400 मीटर के दायरे में दो-दो किलोग्राम के 80 बम, 61 नंबर के कोडेक्स वायर की सीरिज भी लगे हुए थे। तीन बड़े बमों को नष्ट करने के बाद सीरिज में लगे बमों को निष्क्रिय कर दिया गया। मिंज ने उग्रवादियों की मंशा का खुलासा करते हुए कहा किसड़क के बीच में लगाये गये बमों को नष्ट करने के बाद जब पुलिस बल मोरचा संभालता, तो इन सीरिज बमों से पुलिस को भारी नुकसान पहुंच सकता था। समय पर सूचना मिलने से उग्रवादियों की मंशा पूरी नहीं हो सकी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गढ़वा में मुठभेड़, 8 नक्सली ढेर