DA Image
18 जनवरी, 2020|1:18|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टिकैत अभी भी गिरफ्त से बाहर, सिसौली में तनाव

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) नेता चौधरी महेन्द्र सिंह टिकैत द्वारा उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती के खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करने के मामले में तमाम कोशिशों के बावजूद मुजफ्फरनगर के सिसौली गांव में दो दिन से डेरा डाले पुलिस का लाव-लश्कर टिकैत समर्थकों के उग्र तेवरों के चलते अभी तक उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सका है। किसानों के बुजुर्ग नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें उनके गांव सिसौली से गिरफ्तार करने के प्रयासों से समूचे इलाके में जबरदस्त तनाव बना हुआ है। पुलिस ने भी श्री टिकैत को गिरफ्तार करने के मामले में संयमित रवैया अख्तियार कर रखा है ताकि सिसौली में सोमवार को हुई घटना की पुनरावृति न हो। दोनों पक्ष अपनी बात पर अड़े हैं और उनके बीच कोई समझौता भी नहीं हो पा रहा है। एक आेर भाकियू इस मसले को लेकर आठ अप्रैल को किसान महापंचायत आयोजित करने का ऐलान कर चुकी है वहीं दूसरी आेर सरकार उस बात पर कायम है कि श्री टिकैत को हर हाल में गिरफ्तार किया जाएगा।ड्ढr ड्ढr आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को यहां बताया कि सिसौली में स्थिति तनावपूर्ण किन्तु नियंत्रण में है। खूनखराबे से बचने के लिए ही श्री टिकैत की गिरफ्तारी में संयम बरता जा रहा है। गौरतलब है कि बिजनौर में रविवार को संपन्न स्वाभिमान रैली में सुश्री मायावती के खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करने के मामले मे श्री टिकैत के खिलाफ नगर कोतवाली में अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस टिकैत समर्थकों के प्रतिरोध की वजह से उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकी थी और वह सिसौली पहुंच गए थे। भाकियू नेता को गिरफ्तार करने पहुंची मुजफ्फरनगर तथा आसपास के जिलों की पुलिस ने सोमवार की सुबह सिसौली की घेराबंदी कर ली लेकिन टिकैत समर्थकों ने जबरदस्त पथराव करके उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया। बल प्रयोग और आंसू गैस के गोले दागने के बावजूद श्री टिकैत को सोमवार को भी गिरफ्तार नहीं किया जा सका।ड्ढr ड्ढr पुलिसकर्मियों पर हमला करने के आरोप में उनके पुत्र सुरेन्द्र टिकैत समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस बीच प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बृजलाल ने मंगलवार को यहां बताया कि श्री टिकैत को गिरफ्तार करने के लिए मेरठ जोन के पुलिस महानिरीक्षक, सहारनपुर परिक्षेत्र के उपमहानिरीक्षक और मुजफ्फरनगर के आसपास के जिलों के पुलिस बल के अलावा और पीएसी के जवानों को लगाया गया है। एहतियातन क्षेत्र में सुरक्षा बंदोबस्त कड़े कर दिए गए हैं। प्रदेश के गृह विभाग के प्रमुख सचिव जे.एन. चैम्बर ने सोमवार की शाम भाकियू नेता की गिरफ्तारी के लिए किसी समझौता फामरूले को अपनाए जाने की अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा था कि श्री टिकैत ने अपराध किया है और उन्हें हर हाल में गिरफ्तार किया जाएगा।ड्ढr ड्ढr उधर श्री टिकैत के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किए जाने और सिसौली में भाकियू कार्यकर्ताआें पर बल प्रयोग किए जाने को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है और बिजनौर में रविवार को संपन्न रैली के दौरान श्री टिकैत के साथ मंच पर मौजूद राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष अजित सिंह के अलावा समाजवादी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस और अपना दल समेत समूचा विपक्ष सरकार के खिलाफ लामबंद नजर आ रहा है और सभी ने एक सुर से सिसौली में किसानों के खिलाफ की गई बर्बर कार्रवाई के लिए राय सरकार को आड़े हाथ लिया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: टिकैत अभी भी गिरफ्त से बाहर, सिसौली में तनाव