DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगले वर्ष से आईआईटी की फीस होगी दोगुनी

आईआईएम की तर्ज पर अब आईआईटी की फीस भी अगले वित्त वर्ष से दोगुनी हो जाएगी। देश के सात आईआईटी संस्थानों के बोर्ड ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से कहा है कि वे आईआईटी की सालाना फीस को मौजूदा 25 हजार रुपए से बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दें। बोर्ड का यह प्रस्ताव दो लाख से अधिक छात्रों के 13 अप्रैल को आईआईटी दाखिला परीक्षा में बैठने के ठीक पहले आया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि आईआईटी बोर्ड से यह प्रस्ताव प्राप्त हुआ है और सरकार इसका अध्ययन कर रही है। आईआईटी, दिल्ली के निदेशक डॉ. सुरेंद्र प्रसाद ने कहा कि आईआईटी शीघ्र ही मंत्रालय के फैसले से अवगत होगी।ड्ढr ड्ढr आईआईटी ने फीस में बढ़ोतरी का यह प्रस्ताव इन संस्थानों के ढांचे और माली हालत में सुधार के लिए अतिरिक्त संसाधन जुटाने के नाम पर किया है। मंत्रालय ने दिसंबर 2007 तक सभी सातों आईआईटी को 316करोड़ रुपये दिए थे, लेकिन आईआईटी, मुंबई जैसे कुछ संस्थानों ने इस साल के शुरू में वित्तीय तंगी के कारण अपने अध्यापकों के वेतन भुगतान में विलंब किया था। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इन शीर्ष इंजीनियरिंग संस्थानों को वित्तीय तौर पर और मजबूत बनाने के लिए पिछले सप्ताह ही अनुदान दिया था। फीस में बढ़ोतरी के प्रस्ताव के पीछे एक मकसद इन संस्थानों की सरकार पर वित्तीय निर्भरता को कम करना है। चंद दिनों पहले ही आईआईएम ने दो साल के पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स के लिए फीस बढ़ाने का फैसला किया था। आईआईएम-ए ने फीस को पांच लाख रुपये से बढ़ाकर 11.5 लाख रुपये करने का फैसला किया था।ड्ढr ड्ढr 40 यात्रियों को लेकर आई ‘बुद्ध स्पेशल’ड्ढr वाराणसी (सं)। आईआरसीटीसी की लापरवाही के कारण रेलवे को लाखों का चूना लगा है। समुचित प्रचार प्रसार के अभाव में तिब्बतियों के लिए चलाई गई बुद्ध स्पेशल ट्रेन में मात्र 40 तिब्बती पर्यटकों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। मंगलवार को इन 40 तिब्बतियों को लेकर ट्रेन कैंट पहुंची। 10 बोगियों वाली इस ट्रेन में पर्यटकों के लिए खाने पीने की भी सुविधा है। एक हफ्ते के सफर पर निकली ट्रेन करीब 3050 किमी का रास्ता तय करेगी। ट्रेन के संचालन के खर्च और प्राप्त आय की तुलना की जाए तो नुकसान लाखों में है। दिल्ली से चली ट्रेन इलाहाबाद व गया होते हुए मंगलवार को निर्धारित समय से 10 मिनट पहले भोर में 4.50 पर कैंट पहुंची। वाराणसी से गोरखपुर गोंडा व आगरा होते हुए पुन: दिल्ली पहुंचेगी। इसी परियोजना के तहत अगली बार अक्टूबर माह में बुद्ध स्पेशल ट्रेन को चलाई जाएगी।ड्ढr ड्ढr सात लाख मुआवजा दे बिहार सरकारड्ढr नई दिल्ली (वार्ता)। राष्ट्रीय मानवधिकार आयोग ने पुलिस की अंधाधुंध गोलीबारी से बुरी तरह घायल हुए एक व्यक्ित को तुरंत सात लाख रुपए का हर्जाना दिए जाने का बिहार सरकार को निर्देश दिया है। आयोग ने बिहार के मुख्य सचिव को एक नोटिस भेजकर आठ सप्ताह के अंदर इस निर्देश का पालन करने की रिपोर्ट देने के भी निर्देश दिए हैं। आयोग ने कहा है कि बिहार का कमलेश्वर प्रसाद जायसवाल 17 जुलाई 1ो मोतीहारी पुलिस स्टेशन के पास अपने स्कूटर से गुजरते वक्त पुलिस की अंधाधुंध गोलीबारी में बुरी तरह से घायल हो गया था। गोलीबारी में उसका जबड़ा तथा चेहरा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुआ। उसका चेहरा तो पूरी तरह से खराब हो गया था। 26 दिसंबर 2007 को उसने आयोग से इस मामले की शिकायत की। उस वक्त भी उसे गर्दन पर लगे उपकरण की सहायता से सांस लेनी पड़ती थी तथा उसकी शिकायत के अनुसार उसे पूरी तरह से टीक होने के लिए अभी दस और आपरेशन कराने होंगे। आयोग के अनुसार इस मामले की रिपोर्ट हादसे वाले ही दिन मोतीहारी पुलिस स्टेशन में दर्ज कर दी गई थी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। आयोग भी 18 मई 2007 से इस मामले में बिहार सरकार को पीड़ित को आर्थिक सहायता दिए जाने के लिए कारण बताआे नोटिस जारी करता रहा है लेकिन आयोग के बार-बार कहने के बावजूद सरकार ने इस मामले में कुछ नहीं किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अगले वर्ष से आईआईटी की फीस होगी दोगुनी