DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो साल में सिर्फ 15 वार्ड कार्यालय बने

रांची नगर निगम द्वारा दो साल में महज15 वार्ड कार्यालय ही बनाया जा सका है। शहर के विभिन्न वार्डो में एक-एक वार्ड कार्यालय खोलने का प्रस्ताव था, लेकिन वार्ड कार्यालय का निर्माण कार्य धीमी गति से होने की वजह से अभी कार्यालय निर्माण कार्य पूरा नहीं किया जा सका है। जबकि शहर के विभिन्न वार्डो में कुल 28 वार्ड कार्यालय खोले जाने थे।ड्ढr वार्डो की समस्याओं के समाधान के लिए नगर निगम ने उक्त प्रस्ताव तैयार कर नगर विकास विभाग को भेजा था। विभाग ने वित्तीय वर्ष 2006-07 में इस प्रस्ताव पर अपनी सहमति भी दे दी थी। वार्ड कार्यलय खोलने के लिए निगम को विभाग ने एक करोड़ 11 लाख रुपये की राशि भी आवंटित कर दी थी। शेष 13 वार्ड कार्यालय खोलने का काम अभी शुरू तक नहीं किया जा सका है। वैसे इसी वार्ड कार्यालय में पार्षदों के बैठेगें। वार्ड कार्यालय में पार्षद के अलावा टैक्स कलेक्टर, सफाई कर्मचारी और चपरासी भी रखे जायेंगे। प्रत्येक वार्ड खोलने के लिए 3 लाख हजार रुपये आवंटित किये गये हैं। वार्ड कार्यालय निर्माण का कार्य काफी धीमी गति से किया जा गया। जिन वार्ड में कार्यालय खोले गये हैं उनमें 2, 4, 5, 6, 7, 14, 15, 16, 17 व 18 वार्ड शामिल है। प्रत्येक वार्ड के पार्षद इन्हीं कार्यालयों में बैठेंगे।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो साल में सिर्फ 15 वार्ड कार्यालय बने