DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिटायरमेंट से पहले तैयार होगा सर्विस बुक और कागजात

रांची यूनिवर्सिटी के शिक्षक और कर्मियों के रिटायरमेंट से तीन माह पूर्व ही उनकी सर्विस बुक और अन्य कागजात तैयार किये जायेंगे, ताकि सेवा के अंतिम दिन उन्हें सारे भुगतान हो सकें । किसी शिक्षक की मृत्यु होने की स्थिति में संबंधित कॉलेज तीन माह के अंदर सारे कागजात तैयार कर सर्विस बुक के साथ हेडक्वार्टर में जमा करेंगे, ताकि मृतक के आश्रितों को परेशानी न हो। यह निर्णय दो अप्रैल को सिंडीकेट की बैठक में लिया गया। बैठक में नौ एजेंडों पर विचार विमर्श किया गया।ड्ढr रामलखन सिंह यादव कॉलेज सहित अन्य कॉलेजों की जमीन के मामले पर भी चर्चा हुई। इसमें कहा गया कि सभी कॉलेजों से जमीन संबंधित कागजात मंगवाये जा रहे हैं, उन्हें सिंडीकेट में रखा जायेगा। इन मामलों को सिंडीकेट के सदस्य डॉ शैलेश कुमार सिन्हा ने उठाया था।ड्ढr बैठक में बीएस कॉलेज लोहरदगा में स्टेडियम बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गयी है। यह प्रस्ताव कॉलेज के प्राचार्य डॉ केके सिन्हा की पहल पर लोहरदगा जिला प्रशासन ने दिया था। लोहरदगा के डीसी ने इस संबंध में यूनिवर्सिटी से एनओसी मांगी है। दो अप्रैल को सिंडीकेट की बैठक में लोहरदगा जिला प्रशासन को एनओसी देने का निर्णय लिया गया। शिक्षकेतर कर्मचारियों की प्रोन्नति एवं पदनाम के संशोधन प्रस्ताव पर कोई निर्णय नहीं लिया जा सका। इस मामले को पुन: दस अप्रैल को होनेवाली सिंडीकेट की बैठक में रखा जायेगा।ड्ढr जेएन कॉलेज के पूर्व शिक्षक स्व केएन महतो के मामले पर विचार करते हुए निर्णय लिया गया कि मृत शिक्षक का एडवांस वापस नहीं होने की स्थिति में सिर्फ उक्त राशि को रोक कर शेष बकाया का भुगतान किया जा सकता है। स्व महतो को परीक्षा कार्य के लिए 3हजार रुपये एडवांस मिले थे। परीक्षा कार्य पूरा होने के बाद उनकी मृत्यु हो गयी, इसके कारण एडवांस का हिसाब यूनिवर्सिटी को नहीं मिला। इस कारण उनके बकाये का भुगतान नहीं हुआ। सिंडीकेट में बुधवार को डॉ सिन्हा ने इस मामले में कहा कि इससे पूर्व एक शिक्षक को ऐसे ही मामले में राहत देते हुए एडवांस की राशि रोक कर शेष बकाये का भुगतान किया गया है। तब सिंडीकेट ने स्व. महतो के मामले में भी उक्त निर्णय को लागू करने का निर्णय लिया।ड्ढr जंतुशास्त्र विभाग के लिपिक नीरज निशांत बाड़ा के योगदान के मामले को अगली बैठक में रखा जायेगा। जेपीएससी की सहमति पर गोस्सनर कॉलेज के छह प्रयोगशाला प्रभारियों को डेमोंस्ट्रेटर के पद पर प्रोन्नति देने को मंजूरी दी गयी। इसके अलावा एसएसजेएसएन कॉलेज गढ़वा के व्याख्याता डॉ सुनील कुमार एवं बीएनजे कॉलेज सिसई के डॉ मजहर इमाम के लियेन के आवेदन को भी मंजूरी दी गयी। डॉ कुमार को 31.1.200तक एवं डॉ इमाम को एक वर्ष के लिए लियेन की मंजूरी मिली है। इसके अलावा पूर्व की बैठक के निर्णयों की संपुष्टि और संबंधित कार्यान्वयन रिपोर्ट को अनुमोदित किया गया। बैठक की अध्यक्षता वीसी प्रो एए खान ने की। इसमें प्रोवीसी डॉ एसके राय, डॉ शैलेश सिन्हा, मेयर रमा खलखो, डॉ ज्योति कुमार, डॉ एसएस रजी, डॉ सुखी उरांव, डॉ रविभूषण, डॉ जावेद अहमद, डॉ एके गुप्ता, सीमा शर्मा आदि शामिल थीं। रांची विवि सिंडीकेट की बैठकड्ढr द्य कॉलेजों की जमीन का मामला उठाड्ढr बीएस कॉलेज लोहरदगा में बनेगा स्टेडियमड्ढr एडवांस के मामले में भी शिक्षकों को राहतड्ढr कॉलेजों की जमीन के मामले सिंडीकेट में रखे जायेंगेड्ढr कर्मियों की प्रोन्नति और पदनाम में संशोधन का मामला विचाराधीन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रिटायरमेंट से पहले तैयार होगा सर्विस बुक और कागजात