DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़कों पर रही वाहनों की ठेलमठेल

खास हो या आम। वीआईपी कार हो या टेम्पो। राजधानी में बुधवार को सड़क जाम से सभी हलकान रहे। अतिमहत्वपूर्ण सड़कों में शुमार बेली रोड से लेकर अशोक राजपथ तक ट्रैफिक की स्थिति डांवाडोल रही। कहीं वकीलों का आंदोलन तो कहीं दूसरे सामाजिक व अन्य संगठनों का विरोध-प्रदर्शन। सड़क पर आंदोलनकारियों के निकलते ही यातायात की स्थिति बिगड़ने लगी। सिग्नल फेल हो गये और वाहनों की ठेलमठेल होने लगी। कई जगहों पर तो लोगों का पैदल भी सड़क पार करना भी मुश्किल हो गया।ड्ढr ड्ढr दिन चढ़ने के साथ ही शुरू हुई जाम की समस्या देर शाम तक जारी रही। नतीजतन किसी का ट्रेन छूटा तो किसी के महत्वपूर्ण काम गड़बड़ाये। बच्चों को स्कूल आने-जाने में परेशानी हुई तो एम्बुलेंस में मरीज कराहते रहे। स्थिति उस समय अजीबोगरीब हो जाती जब जाम में फंसे वाहन आगे-पीछे मुड़ने के क्रम में एक-दूसरे से टकराते। वहीं पैदल राहगीर भी ठोकर खाकर गिरते-पड़ते रहे। अधिवक्ताओं ने हाइकोर्ट के समीप करीब दो घंटे तक बेली रोड पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन करते हुए सड़क जाम कर दिया। पुलिस के पहुंचने और प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद ही स्थिति सामान्य हुई। इधर गांधी मैदान से निकले आंदोलनकारियों के विभिन्न जुलूस जिन रास्तों से होकर गुजरे उधर ट्रैफिक चरमराती गई। गांधी मैदान, फ्रेजर रोड, एक्जीबिशन रोड, बाकरगंज, पीरमुहानी, बुद्ध मूर्ति गोलंबर, अशोक राजपथ, स्टेशन रोड, बुद्ध मार्ग, आयकर गोलंबर, वीरचंद पटेल पथ, हाइकोर्ट मोड़, बोरिंग रोड चौराहा, कंकड़बाग कॉलोनी मोड़, करबिगहिया समेत अन्य इलाकों में रात आठ बजे के बाद तक ट्रैफिक की हालत अस्त-व्यस्त रही। दूसरी तरफ प्रदर्शनकारियों को विधान सभा की ओर बढ़ने से रोकने के लिए आर.ब्लॉक गोलंबर के समीप गेट बंद किये जाने से पिछले कई दिनों से हजारों लोगों को यारपुर, चितकोहरा, गर्दनीबाग, मीठापुर, बेउर, अनीसाबाद, फुलवारीशरीफ आदि इलाकों की ओर आने-जाने में परेशानी होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सड़कों पर रही वाहनों की ठेलमठेल