अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

1 से 15 रु. में बिक रहे प्रश्न पत्र

परीक्षाओं के मौजूदा दौर में प्रश्न-पत्र बाजार में बिक रहे हैं। चाहे इंटर की आंतरिक वार्षिक परीक्षा हो, या बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित 11वीं की परीक्षा हो भागलपुर में इंटर की परीक्षा के लिए प्रश्न पत्र जहां सिर्फ एक रूपये में बिक रहे हैं, वहीं 11वीं के छात्र बोर्ड परीक्षा के लिए 10 से 15 रुपये खर्च कर प्रश्न-पत्र व उत्तर पुस्तिका खरीद रहे हैं।ड्ढr ड्ढr उधर छपरा में भी बुधवार से शुरू इंटर मीडिएट की जांच परीक्षा के एक दिन पूर्व ही प्रश्न पत्र के बाजार में बिकने की खबर है। भागलपुर में अगर आप इंटरमीडिएट की आंतरिक वार्षिक परीक्षा दे रहे हैं तो परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों को लेकर घबराइए मत। पहुंच जाइए किसी फोटोकॉपियर के पास। वहां आपको अगली परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों का पूरा पत्र मिल जाएगा। वह भी केवल एक रुपए में। यह कोई मजाक नहीं है। दरअसल प्लस-टू की तर्ज पर इंटरमीडिएट की आंतरिक वार्षिक परीक्षा पहले ही प्रयास में मुंह के बल गिर पड़ी है। यहां तक कि 8 अप्रैल को दूसरी पाली में समाजशास्त्र की होने वाली परीक्षा का प्रश्न पत्र परीक्षा से छह दिन पहले ही बाजार में खुलेआम बिक रहा है। बेतिया में मात्र 50 से 75 रुपये खर्च कर 11वीं के छात्र बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित परीक्षा में मनचाहा अंक हासिल कर लेंगे। बाजार में 10 से 15 रुपये में प्रश्न पत्र एवं उत्तर पुस्तिका खुलेआम बिक रहे हैं। गुरुवार को होने वाली अंग्रेजी भाषा एवं साहित्य (अनिवार्य विषय) का प्रश्न पत्र ‘हिन्दुस्तान’ कार्यालय में पहुंचा। बोर्ड ने इंटर, डिग्री एवं अंगीभूत महाविद्यालयों को जिला शिक्षा अधिकारी के कार्यालय से प्रश्न पत्रों का सीलबंद लिफाफा लेने का आदेश दिया था। पूछे जाने पर डीईआे ललन झा ने बताया कि सीलबंद लिफाफा देने के बाद प्रश्न पत्रों की गोपनीयता बनाये रखना केन्द्रों की जिम्मेवारी है।ड्ढr छपरा में वित्तरहित शिक्षा नीति की समाप्ति के तहत ‘परफार्मेन्स बेस्ड अनुदान’ की मुख्यमंत्री की घोषणा का असर बुधवार से शुरू इंटरमीडिएट की 11वीं जांच परीक्षा में भी दिखने लगा है। प्राचार्यो द्वारा अपने-अपने कालेज के परीक्षार्थियों को परीक्षा के एक दिन पूर्व ही बोर्ड से मिले प्रश्नपत्र की फोटो कापी उपलब्ध करा दी जा रही है ताकि परीक्षार्थी सारे प्रश्नों का हल घर पर ही कर सकें। इसके एवज में अवैध वसूली भी की जा रही है। ड्ढr प्रश्न पत्र लीक करने वाले स्कूलों पर होगी कार्रवाईड्ढr पटना (हि.प्र.)। राज्य भर से प्रश्न पत्र लीक होने की आ रही खबरों पर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति का कहना है कि इस प्रकार की स्थिति तो आनी संभव ही नहीं है जब तक स्कूल प्रशासन न चाहे। अगर कहीं पर भी प्रश्नों के लीक करने में स्कूल प्रशासन का हाथ होगा तो उस पर कार्रवाई की जाएगी। समति के उच्च माध्यमिक प्रभाग के निदेशक (शैक्षणिक) रघुवंश कुमार ने बताया कि प्रश्नों को सात सेट में प्रकाशित कराया गया है। केवल स्कूल प्रशासन को ही पता होता है कि उनके यहां कौन सा सेट है। उन्होंने बताया कि स्कूल प्रशासन को आंतरिक संसाधन से यह परीक्षा लेनी है। यह आंतरिक परीक्षा है और इसमें स्कूलों को तीन ऑप्सन दिए गए थे। एक तो स्कूल प्रशासन प्रश्नों को प्रिंट करा ले, दूसरा फोटोकॉपी करा ले या फिर तीसरा प्रश्न को ब्लैक बोर्ड पर लिखकर परीक्षा ले। साथ ही स्कूलों को निर्देश दिया गया था कि वे परीक्षा लेने के लिए वार्षिक परीक्षा की तरह ही फीस लें ताकि उन्हें अधिक परेशानी का सामना न करना पड़े।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 1 से 15 रु. में बिक रहे प्रश्न पत्र