DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस के हत्थे चढ़े दो नटवरलाल

इनके पास से पुलिस ने ‘अध्यक्ष कौमी कांफ्रेंस, बिहार’ लिख कर कार में रखा नेम प्लेट, कयूम का पैन कार्ड, छह एटीएम-क्रेडिट कार्ड, चार चेक बुक, तीन मोबाइल, कई तरह के कागजात व पीएमसीएच के डा. ए खान, एसपी (स्पेशल ब्रांच) आदि के नाम से बने लेटर पैड बरामद किये हैं। पुलिस अधिकारी उस समय चौंक गये जब कयूम एक एडीएम का दामाद और दरभंगा स्थित बहेड़ा मेडिकल कॉलेज का छात्र निकला। कथित बॉडीगार्ड दिलीप कुमार (लखीसराय) एक प्राइवेट सुरक्षा एजेंसी से संबद्ध और बोरिंग रोड स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम का गार्ड है। बताया जाता है कि कयूम कौमी कांफ्रेंस से भी जुड़ा हुआ है। मुजफ्फरपुर जिले के बोचहा गांव का मूल निवासी कयूम न्यू पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित हाइटेक अपार्टमेंट (302 बी.) में रहता है। बीती रात उसने एसपी का वेश धारण किया और दिलीप को बॉडी गार्ड बना कर कार से निकला।ड्ढr ड्ढr पुलिसकर्मियों द्वारा टीशर्ट आदि पर पहना जाने वाला होलेस्टर (पिस्तौल रखने वाली कॉवर) कयूम ने पहन ली ताकि उसके एसपी होने पर किसी को शक नहीं हो। कॉवर में पिस्तौल की जगह बोतल रख ली थी। रास्ते में मैनपुरा से आ रही एक ट्रक (बीएचपी 8ो उसने संत माइकल स्कूल से पूरब रोका और चालक अनिल सिंह से कागजात मांगने लगा। चालक को डराने के लिए कयूम बार-बार होलेस्टर के पास हाथ ले जाता था। ड्राइवर सह बॉडी गार्ड भी पुलिस जवान की तरह अपने हाव-भाव दिखाने लगा। ट्रक चालक और नकली एसपी के बीच बातचीत थोड़ी ही देर चली थी कि अचानक दीघा थानाध्यक्ष एन.के.सिंह गश्ती करते हुए दलबल के साथ वहां पहुंच गये। बीच सड़क पर ट्रक व कार को रुका देख जब उन्होंने पूछताछ की तो कयूम ने खुद के एसपी होने का रौब दिखाते हुए ऊपर से विशेष जांच आदेश मिलने की बात कही। स्थिति संदिग्ध देख पुलिसकर्मियों ने जब अपने तेवर बदले तो कयूम खुद को डाक्टर और पुलिस के आलाधिकारियों से संबंध की दुहाई देने लगा। इसके बाद पुलिस गिरफ्तार कर दोनों को थाने ले आई जहां उन्होंने असलियत बयान कर दिये। प्राथमिकी दर्ज कर दोनों को बुधवार को जेल भेज दिया गया। कयूम के पिछले कुछ समय से रात में चोला बदल कर जालसाजी का खेल खेलने की बात सामने आई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस के हत्थे चढ़े दो नटवरलाल