DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गिलानी ने सुरक्षा पर कियानी से ली जानकारी

पाकिस्तान के सेनाध्यक्ष जनरल अशफाक परवेज कियानी ने बुधवार को यहां प्रधानमंत्री सैयद यूसुफ रजा गिलानी, मंत्रिमंडल के प्रमुख सदस्यों तथा सत्तारूढ़ गठबंधन के घटक दलों के अध्यक्षों को देश के सुरक्षा मुद्दों की विस्तार से जानकारी दी। पाकिस्तान के राजनीतिक इतिहास में यह दूसरा मौका था जब सेना प्रमुख ने राजनीतिक बिरादरी को महत्वपूर्ण सुरक्षा मुद्दों पर ब्रीफ किया है। एक अन्य खबर के मुताबिक कियानी ने मेजर जनरल मोहम्मद आसिफ को सैन्य खुफिया विभाग का प्रमुख नियुक्त किया है। प्रधानमंत्री निवास पर कियानी के साथ हुई बैठक के बाद गिलानी ने स्थिति के गहन अध्ययन का फैसला किया जिसके आधार पर आतंकवाद एवं उग्रवाद के खतरे से निपटने के लिए नीतिगत दिशा-निर्देश तय किए जा सकें और विश्वसनीय सैन्य तत्वों के समर्थन से राजनीतिक मेलजोल एवं आर्थिक विकास की रणनीति तैयार की जा सके। दि न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री ने कहा, यदि जरूरत पड़ी तो इस काम में सेना का सहयोग भी लिया जाएगा। बैठक में पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के प्रमुख एवं पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी, अवामी नेशनलिस्ट पार्टी (एएनपी) के नेता अस्फंदयार वली खान, जमातुल उलेमा इस्लाम के नेता मौलाना फजलुर रहमान, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, रक्षा मंत्री चौधरी अहमद मुख्तार, गृह मामलों के सलाहकार रहमान मलिक तथा अमेरिका में पाकिस्तान के राजदूत महमूद अली दुर्रानी उपस्थित थे। मुशर्रफ पर महाभियोग तत्काल मुमकिन नहीं : पूर्व प्रधानमंत्री और पीएमएल-एन नेता नवाज शरीफ भले ही राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के खिलाफ महाभियोग पर जोर दे रहे हों लेकिन पाकिस्तानी संसद की स्पीकर फहमीदा मिर्जा की टिप्पणी को किसी तरह का संकेत माना जाए तो ऐसा फिलहाल मुमकिन नजर नहीं आता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गिलानी ने सुरक्षा पर कियानी से ली जानकारी