DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंद्रपुरी जलाशय योजना संकट में नहीं

राज्य सरकार ने कहा है कि इंद्रपुरी जलाशय योजना एक प्रस्तावित योजना है। इस लिहाज से इसके अस्तित्व के संकट में पड़ने का औचित्य ही नहीं है। राज्य सरकार परियोजना में उत्तरप्रदेश और झारखण्ड का सहयोग प्राप्त करने के लिए प्रयासरत है।ड्ढr जल संसाधन मंत्री रामाश्रय प्रसाद सिंह ने गुरुवार को विधान परिषद में डॉ.भीम सिंह के अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि यह अंतर्राज्यीय सहयोग का मामला है जिसके लिए कोशिशें हो रही हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की सोन नहर प्रणाली में हमेशा पानी रहे इसके लिए सोन नदी पर इंद्रपुरी जलाशय प्रस्तावित है। इस योजना की लागत वर्ष 1े दर पर 1111.14 करोड़ है। इसमें सिंचाई अवयव 533.36 करोड़ रुपए तथा जल विद्युत अवयव के लिए 755.78 करोड़ रुपए है। यह योजना केन्द्रीय जल आयोग में समर्पित है, लेकिन उत्तर प्रदेश तथा झारखण्ड की सहमति के अभाव में लंबित है। दोनों राज्यों की सहमति के लिए केन्द्र के हस्तक्षेप का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वर्ष 1में वाणसागर एकरारनामा में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जो इस योजना पर सहमति के लिए वैधानिक बाध्यता बनाते हों। उन्होंने स्पष्ट किया कि उत्तरप्रदेश और झारखण्ड की सहमति और केन्द्रीय जल आयोग की स्वीकृति के बाद ही योजना पर काम शुरू किया जा सकेगा। रात दस बजे बाद शराब बिक्री की जांच होगी : मोदीड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। रात दस बजे के बाद शराब की बिक्री हो रही है या नहीं, इसकी राज्य स्तरीय जांच होगी। साथ ही नियम के विपरीत सुबह दस बजे के पहले और रात्रि दस बजे के बाद शराब बेचने वाले लाइसेंसधारी दुकानदारों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने गुरुवार को विधान परिषद में संजय सिंह के तारांकित प्रश्न के जवाब में यह घोषणा की। श्री मोदी ने कहा कि रात दस बजे के बाद शराब की बिक्री हो रही है, ऐसी कोई सूचना राज्य सरकार के पास नहीं है। बावजूद इसके सरकार पूरे राज्य में फिर से जांच कराएगी कि रात दस बजे के बाद दुकानो से शराब की बिक्री तो नहीं हो रही है। इसके पहले श्री सिंह ने कहा कि प्रतिबंध के बावजूद राजधानी सहित राज्य के अन्य हिस्सों में देर रात तक शराब की दुकानें खुली रहती हैं। साथ ही उन्होंने यह सवाल भी उठाया कि उत्पाद विभाग के लोगों तथा पुलिस के संरक्षण में ही ये दुकानें देर रात तक खुली रहती हैं। इसपर परिवहन राज्य मंत्री अजीत कुमार ने कहा कि डीएम और उत्पाद विभाग के अधिकारियों से सरकार ने इसके बारे में पूछा था लेकिन ऐसा कोई भी प्रतिवेदन प्राप्त नहीं हुआ है जिसमें देर रात तक शराब की बिक्री की बात हो।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इंद्रपुरी जलाशय योजना संकट में नहीं