DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कहां गये खजाने के ४००० करोड़?

सरकारी खजाने से निकाल कर बैंकों में रखे गये चार हजार करोड़ रुपये का अब तक पता नहीं चला। चार साल पहले ट्रेजरी से यह रकम निकाली गयी थी। ढाई साल पहले बंधु तिर्की ने विधानसभा में इस पर सरकार से सवाल पूछा था। उस समय बंधु विपक्ष के विधायक थे। तब सरकार बैंकों में रखे गये चार हजार करोड़ रुपये के खर्च का हिसाब नहीं दे पायी थी।ड्ढr पिछली सरकार मनाही के बाद भी ट्रेजरी से निकाल कर बैंकों में धन रख देने के मामले पर जवाब टालती रही। इस मुद्दे पर सरकार ने जिलों के डीसी से रिपोर्ट मांगी थी।ड्ढr एक-दो को छोड़ ज्यादातर जिलों के डीसी ने सरकार को रिपोर्ट नहीं दी। आज तक चार हजार करोड़ रुपये जमा रखने पर रिपोर्ट तैयार नहीं हुई। पहले अधिकारियों के लिए गले की हड्डी बने इस मामले को एनडीए सरकार टाल रही थी। अब यूपीए की सरकार भी वैसा ही कर रही है।ड्ढr इधर वित्त विभाग ने विधानसभा में उठे इस तारांकित सवाल को ड्राप कराने का प्रयास भी किया था। विधानसभा के अधिकारी इसके लिए तैयार नहीं हुए। कहा गया कि ऐसा प्रावधान नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कहां गये खजाने के ४००० करोड़?