DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मतदाता सूची की मॉनीटरिंग को 14 वरिष्ठ अफसर तैनात

चुनाव आयोग ने 14 वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को मतदाता सूची प्रेक्षक के रूप में तैनात किया है। माना जा रहा है कि यह तैयारी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर शुरू की गयी है। राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में तैनात सचिव स्तर के इन अधिकारियों को मुख्य रूप से तैयार की जा रही मतदाता सूची की मॉनीटरिंग की जिम्मेवारी सौंपी गयी है। उन्हें इस बात का ध्यान रखना है कि मतदाता सूची चुनाव आयोग के गाइड लाइन के अनुसार सही तरीके से तैयार हो। खासबात यह है कि नए परिसीमन के आधार पर मतदाता सूची के साथ-साथ पुरानी मतदाता सूची भी तैयार की जानी है।ड्ढr ड्ढr आयोग के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार चूंकि बिहार में विधान सभा चुनाव की अवधि वर्ष 2010 में पूरी हो रही है। इसलिए पुरानी मतदाता सूची को भी अद्यतन किया जा रहा है। उप चुनाव की स्थिति में पुरानी मतदाता सूची के आधार पर ही चुनाव कराए जाएंगे। मतदाता सूची के प्रारूप का प्रकाशन 30 जून और फाइनल प्रकाशन 31 अगस्त तक संभावित है। शुक्रवार को राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुधीर कुमार राकेश की अध्यक्षता में अधिकारियों की बैठकड्ढr हुई और फिर उन्हें पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया।ड्ढr ड्ढr सचिव स्तर के जिन अधिकारियों को मतदाता सूची पर्यवेक्षक नियुक्त किया है उनमें योजना एवं विकास सचिव रामेश्वर सिंह, स्वास्थ्य सचिव दीपक कुमार, सहकारिता सचिव रविकांत, सूचना एवं जनसंपर्क सचिव राजेश भूषण, राजस्व पर्षद के सुधीर कुमार, पथ निर्माण सचिव एस.शिवकुमार, कला, संस्कृति सचिव विवेक कुमार सिंह, परिवहन सचिव के.के. पाठक, पुल निर्माण निगम के एमडी प्रत्यय अमृत, कृषि विभाग के संयुक्त सचिव सी.के.अनिल, अमरेन्द्र नारायण सिंह, जेल आईजी संदीप पौंडरीक, राज्य स्वास्थ्य समिति के एमडी यू.एस.कुमावत तथा कॉम्फेड के एमडी अतीश चंद्रा शामिल हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मतदाता सूची की मॉनीटरिंग को 14 वरिष्ठ अफसर तैनात