DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएच के लिए केंद्र को भेजा गया 172 करोड़ का प्रोजेक्ट

झारखंड में नेशनल हाइवेज की हालत में सुधार के लिए 172 करोड़ का प्रोजेक्ट केंद्र को भेजा गया है। वित्तीय वर्ष 2008-0े लिए यह फंड मांगा गया है। योजनाओं की जल्द मंजूरी के लिए एनएच के चीफ इंजीनियर विष्णु राम ने केंद्रीय रोड ट्रांसपोर्ट मिनीस्ट्री के आरसी इंदोरिया से बात की है। झारखंड एनएच ने शुरू में 620 करोड़ का प्रोजेक्ट बना कर भेजा था। केंद्र ने इसे लौटाते हुए दो सौ करोड़ की योजनाओं पर ही मंजूरी देने की बात की। इसके बाद पूरे प्रोजेक्ट का रिवीजन किया गया। चिफ इंजीनियर का कहना है कि एनएच में दर्जन भर से अधिक पुल-पुलिये काफी पुराने और कमजोर स्थिति में हैं। उन पुलों को ठीक करने के लिए प्रोजेक्ट तैयार किया गया था। तीन महीने पहले केंद्र से मंजूर 85 करोड़ के विशेष पैकेज के तहत सभी योजनाओं पर काम शुरू हो गया है। बरसात से पहले इन योजनाओं का काम पूरा करने को कहा गया है। फिलहाल बिटुमिन की कमी से एनएच 32, 33, 06 और 100 पर चल रहा काम प्रभावित हो रहा है। ठेकेदारों ने संबंधित कंपनी हिन्दुस्तान पेट्रोलियम को पैसे दे दिये हैं, पर बिटुमिन नहीं मिल रहा है।ड्ढr सचिव ने बैठक की, एडीबी सेल खुला : पथ निर्माण विभाग ने गोविंदपुर-साहेबंगज रोड प्रोजेक्ट को लेकर एडीबी सेल बनाया है। विभागीय सचिव एनएन सिन्हा ने अफसरों तथा एशियन डेवलपमेंट बैंक (एडीबी) के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर एडीबी से लोन लेने पर चर्चा की। एडीबी से लोन लेकर गोविंदपुर-साहेबंगज रोड को डबल लेन किया जाना है। रोड बनाने के लिए एडीबी सर्वे करा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एनएच के लिए केंद्र को भेजा गया 172 करोड़ का प्रोजेक्ट