DA Image
23 फरवरी, 2020|3:15|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरेश नंदा व अन्य की जमानत याचिका खारिज

ेद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक अदालत ने बराक प्रक्षेपास्त्र सौदा घोटाले के आरोपी सुरेश नन्दा और उसके बेटे संजीव नन्दा की जमानत अर्जी शनिवार को खारिज कर दी।पिता पुत्र को उनके खातों में गड़बड़ी करने के लिए आयकर विभाग के एक अधिकारी को रिश्वत देने की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई ने आठ मार्च 2008 को हथियारों के दलाल सुरेश नन्दा और संजीव नन्दा, उनके चार्टेड एकाउंटेंट विपिन शाह, आयकर विभाग के निदेशक आशुतोष वर्मा तथा अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी, 204, 201, 218 और भ्रा्रष्टाचार निरोधक कानून की विभिन्न धाराआें के तहत मामला दर्ज किया है। इनके खिलाफ आरोप है कि इन्होंने आर्थिक लाभ हासिल करने के लिए सुरेश नन्दा और उनके साथियों के पक्ष में आयकर विभाग की जांच रिपोर्ट में छेड़छाड़ करने के लिए आपराधिक साजिश कर अपने सरकारी पद का दुरुपयोग किया। सीबीआई के आरोप के मुताबिक वर्मा ने सुरेश नन्दा और उसके साथियों के परिसरों में फरवरी 2007 में छापा मारकर बड़ी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद किए जो आयकर न जमा करने तथा रक्षा सौदे में उनकी लिप्तता और इससे जुड़े अन्य मामलों से सम्बन्धित थे। वर्मा ने बड़ी रकम लेकर छापे से जुड़ी अपनी रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारी को सौंपने से पहले उसे शाह को अपने लैपटाप में दिखा दिया तथा सुरेश और संजीव नन्दा के कहने पर छेड़छाड़ कर उसमें जरूरी बदलाव कर दिए। साथ ही आपत्तिजनक दस्तावेज भी नष्ट कर दिए। सीबीआई के विशेष न्यायाधीश इंदरमीत कौर कोचर ने सभी आरोपियों की जमानत अर्जी पर अंतिम दलीलें सुनी। मामले की गंभीरता को देखते हुए अदालत ने सभी चारों आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज कर दी। सभी आरोपी 11अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: सुरेश नंदा व अन्य की जमानत याचिका खारिज