DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों से साठगांठ के आरोप में जीतन मरांडी हिरासत में

नक्सलियों से साठगांठ के आरोप में पुलिस ने रंगकर्मी जीतन मरांडी को हिरासत में लिया है और शहर में ही गुप्त ठिकाने पर पूछताछ हो रही है। जानकारी के अनुसार जीतन मरांडी सुखदेवनगर थाना क्षेत्र के बस स्टैंड के पास एक ट्रेड यूनियन के कार्यालय में आयोजित बैठक में भाग लेने आये थे। विस्थापन विरोधी जन विकास आंदोलन की बैठक शनिवार को रांची में थी। इसके संयोजक केएन पंडित हैं और संचालक दामोदर तुरी। इसके अलावा गिरिडीह से जीतन मरांडी सहित कई लोगों को बुलाया गया था। 11 बजे दिन से शाम पांच बजे तक बैठक हुई। बैठक में लिये गये निर्णयों की जानकारी पत्रकारों को उपलब्ध कराने की जवाबदेही दामोदर तुरी और जीतन मरांडी को दी गयी थी। दोनों कचहरी चौक के पास से फैक्स करने जा रहे थे कि सादे लिबास में इंतजार कर रहे पुलिसकर्मियों ने दबोच लिया। सबसे पहले एक पुलिसकर्मी जीतन मरांडी के पास पहुंचा और उनका हाथ पकड़ लिया। थोड़ी देर बाद कुछ वर्दीधारी पुलिसकर्मी भी पहुंच गये। उन्हें एक वाहन में बिठाकर और गुप्त ठिकाने पर ले जाया गया। जीतन गिरिडीह के पीरटांड़ के रहने वाले हैं। वे संथाली, खोरठा और हिन्दी के साहित्यकार भी हैं। इसके पहले भी जीतन मरांडी को रांची पुलिस ने गिरफ्तार किया था। तब वे अलबर्ट एक्का चौक के निकट पकड़े गये थे। पूछताछ के बाद पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया था। पुलिस यह पता लगा रही है कि आखिरकार मरांडी के विरुद्ध झारखंड के किस किस जिले में मुकदमे दर्ज हैं। जमशेदपुर में एक मामला पहले से दर्ज होने की सूचना मुख्यालय को है। इसके आलवा गिरिडीह के चिलखारी में हुए नरसंहार में भी जीतन मरांडी नाम आया था। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है, लेकिन गिरिडीह पुलिस को इसकी जानकारी दे दी गयी है। गिरिडीह से पुलिस की टीम भी रांची पहुंचने वाली है। गिरिडीह में बाबूलाल मरांडी के पुत्र अनूप मरांडी सहित 1लोगों की हत्या कर दी गयी थी। देर रात तक उनसे पूछताछ जारी थी। इधर ट्रेड यूनियन के संयोजक केएन पंडित ने जीतन मरांडी की गिरफ्तारी की निंदा की है और कहा है कि पुलिस बेवजह उन्हें प्रताड़ित कर रही है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नक्सलियों से साठगांठ के आरोप में जीतन मरांडी हिरासत में