अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज्य सरकार अपनी एजेंसी से कार्य कराए

ेन्द्रीय एजेंसियों के कायरे पर आपत्ति करने के मामले में अब केन्द्र ने राज्य सरकार पर पलटवार किया है। केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने स्पष्ट कहा है कि अगर राज्य सरकार को केन्द्रीय एजेंसियों के कार्य पर आपत्ति है तो वह अपनी एजेंसी से काम कराए।ड्ढr ड्ढr राज्य सरकार डीपीआर बनाकर भेजे, केन्द्र सरकार उसको अनुमति देने को तैयार है। उन्होंने बीपीएल के मामले में भी राज्य सरकार पर गलतबयानी का आरोप लगाया है। श्री सिंह ने कहा कि अगर राज्य सरकार केन्द्र प्रायोजित योजनाआें का काम खुद करने में सक्षम है तो केन्द्र सरकार को क्या आपत्ति होगी।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि बिहार में भारत निर्माण योजना के तहत 40 हजार किलोमीटर ग्रामीण सड़कें बनवानी हैं। इसमें से 13 हजार किलोमीटर सड़कों का काम केन्द्रीय एजेंसियों को दिया गया है। अब राज्य सरकार यह बता दे कि बचे हुए 27 हजार किलोमीटर सड़कों में से कितने किलोमीटर सड़कों का निर्माण खुद करा लेगी। उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि राज्य सरकार अपने बूते इन कायरे को पूरा कर पाएगी। इससे पहले राज्य के पथ निर्माण मंत्री और पंचायती राज मंत्री कई बार सार्वजनिक समारोहों और विधानमंडल में यह बयान दे चुके हैं कि केन्द्रीय एजेंसियों का कार्य संतोषजनक नहीं है और अगर इनका यही रवैया बरकरार रहा तो सरकार इन्हें अब कोई काम नहीं देगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज्य सरकार अपनी एजेंसी से कार्य कराए