अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वकीलों ने नीतीश और मोदी का पुतला फूंका

ोर्ट फीस वृ िके खिलाफ शनिवार को यहां वकील व मुंशी सड़क पर उतर आए। वकीलों ने सरकार विरोधी नारे के साथ नगर भ्रमण किया और फिर नुक्कड़ सभा के बाद मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री को पुतला फूंका। वकीलों ने कोर्ट फीस वृ िवापसी की मांग करते हुए एलान किया कि जब तक मांग पूरी नहीं होगी आंदोलन जारी रहेगा। वकीलों ने पालीगंज में रविवार को चक्का जाम व सोमवार को जेल भरो अभियान चलाने की घोषणा की। पालीगंज अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष शंकरदयाल शर्मा की अध्यक्षता में हुई सभा को शिवाधार सिंह, राणा रंजीत, सुबोध कुमार द्विवेदी, आेमप्रकाश, भोला शर्मा, विद्याभूषण तिवारी, अखिलेश सिंह ने संबोधित किया।ड्ढr ड्ढr वकीलों ने जुलूस निकालाड्ढr दानापुर से हि.प्र के अनुसार कोर्ट फीस वृद्धि को वापस लेने की मांग को लेकर दानापुर अधिवक्ता संघ के बैनर तले शनिवार को नगर में अधिवक्ताओं ने विशाल जुलूस निकालकर अनुमंडलाधिकारी के कार्यालय गये। प्रतिनिधिमंडल ने अनुमंडलाधिकारी को एक ज्ञापन दिया। जुलूस व्यवहार न्यायालय अधिवक्ता संघ कार्यालय से निकाला गया। जुलूस में संघ के अध्यक्ष वीरेन्द्र प्रसाद, महासचिव धीरेन्द्र, प्रदीप कुमार दूबे, शशि भूषण, यादव, अशोक कुमार सिंह, मिथिलेश कुमार, विजय कुमार, मुकेश कुमार आदि ने कहा कि सरकार द्वारा कोर्ट फीस में अप्रत्याशित बढ़ोतरी की है। अधिवक्ताओं के कल्याणार्थ शपथ पत्र पर लगने वाले मुद्रांक को भी हटाया गया है, जो जन विरोधी व गरीब जनता को न्याय के दरवाजे तक जाने से रोकने की साजिश है। वहीं अनुमंडलाधिकारी सुनील कुमार ने बताया कि ज्ञापन के प्रति लेकर राज्य सरकार को भेज दिया जायेगा।ड्ढr ड्ढr मसौढ़ी में भी प्रदर्शन जाम और पुतला दहनड्ढr मसौढ़ी (नि.सं.)। न्याय शुल्क बढ़ोतरी के खिलाफ मसौढ़ी अधिवक्ता संघ युवा अधिवक्ता कल्याण समिति एवं अधिवक्ता लिपिक संघ के संयुक्त नेतृत्व में आक्रोशपूर्ण विरोध प्रदर्शन शनिवार को किया गया। बाद में क्रुद्ध प्रदर्शनकारियों ने एनएच-83 जामकर मुख्यमंत्री उप मुख्यमंत्री एवं महाधिवक्ता पी.के. शाही का पुतला दहन किया गया। विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व वरीय अधिवक्ता अखिलानन्द सिन्हा, वीरेन्द्र कुमार एवं डोमन प्रसाद ने किया। जाम के दौरान दोनों तरफ गाड़ियों की कतार लग गई, जिसमें पूर्व मंत्री सह बेलागंज के राजद विधायक सुरेन्द्र प्र. यादव काफी देर तक फंसे रहे। बाद में जामस्थल पर पहुंच कर उन्होंने स्टाम्प शुल्क बढ़ोतरी में राज्य सरकार के अड़ियल रूख की तीव्र निंदा कर अधिवक्ताओं के आन्दोलन को समर्थन दिया। संघ महासचिव चन्द्रदेव प्रसाद, सच्चिदानंद सिन्हा, अजीत कुमार, महेन्द्र सिंह, अशोक राकेश कुमार, सत्येन्द्र पासवान, सहजानंद प्रसाद, सुरेन्द्र प्रसाद मुख्य रूप से भाग लेकर विचार व्यक्त किए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वकीलों ने नीतीश और मोदी का पुतला फूंका