अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वार्ड पार्षद पर रंगदारी मांगने का मामला दर्ज

रंगदारी मांगने, धमकाने और जमीन पर कब्जा करने के मामले में दबंग वार्ड पार्षद केदार राय, उनके परिजनों व अन्य के खिलाफ शनिवार को दानापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई। डीएम जितेन्द्र कुमार सिन्हा के आदेश पर एसडीओ सुनील कुमार, एसएसपी निशांत तिवारी व अन्य अधिकारियों ने सगुना मोड़ के समीप मौके पर छानबीन के क्रम में पार्षद के भाई पारस राय, भतीजे रवि कुमार और भगीना उपेन्द्र कुमार उर्फ नागेन्द्र राय को गिरफ्तार कर लिया। उस समय जमीन पर अवैधतरीके से झोपड़ियां बनाई जा रही थी। मामला सगुना बड़ी हवेली निवासी डा. एस.एस.बी. हसन व अन्य की जमीन से जुड़ा है। बाद में एसएसपी अमित कुमार ने भी थाने पहुंच कर तहकीकात की।ड्ढr ड्ढr नया टोला निवासी केदार राय वार्ड संख्या 14 के पार्षद हैं। एसडीओ के अनुसार डा. हसन व अन्य लोगों ने जिलाधिकारी को आवेदन दिया था जिसमें गलत तरीके से 2 एकड़ 41 डिसमिल जमीन पर कब्जा करने की कोशिश के साथ ही रंगदारी मांगने व धमकाने के बाबत वार्ड पार्षद व अन्य को आरोपित किया गया था। अनुसंधान करने जब पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों का दल पहुंचा तो उस जमीन पर झोपड़ियां बनते देख सभी दंग रह गये। झोपड़ी निर्माण करा रहे लोगों से जब जमीन के कागजात मांगे गये तो वे कुछ नहीं दिखा सके। इसके बाद झोपड़ियों को ध्वस्त करते हुए पुलिस दस्ते ने वार्ड पार्षद के तीनों परिजनों को गिरफ्तार कर लिया। एसडीओ ने बताया कि पूर्व में पिस्तौल भिड़ा कर राजस्व कर्मचारी परमानंद से जबरन आरोपितों ने जमीन का जमाबंदी करा लिया था। पहले एसडीओ के यहां से उस जमीन पर धारा 144 लगाया गया था। इसको लेकर मामला कोर्ट में भी है।ड्ढr ड्ढr बहरहाल प्रशासनिक कार्रवाई के बाद जहां इलाके के भूमाफियाओं के बीच खलबली मची है वहीं लोगों में खुशी है। दरअसल दबंगों द्वारा जबरन जमीन कब्जाने की शिकायत थाने से कोर्ट तक भूमिपतियों द्वारा पहले भी की जाती रही है लेकिन कार्रवाई बिरले ही होती थी। एएसपी से साफ कहा कि भूमाफिया के मामले में त्वरित कार्रवाई की जायेगी और उन्हें बख्शा नहीं जायेगा। एनएच 31 पर लाखों की लूट, एक दर्जन वाहनों को निशानाड्ढr बिहारशरीफ (नि.प्र.)। हथियारबंद अपराधियों ने शुक्रवार की रात लगभग एक दर्जन वाहनों से लाखों रुपए की लूटपाट की। विरोध करने पर लुटेरों ने जहां एक चालक को गोली मारकर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया, वहीं एक अन्य चालक को पिस्तौल की बट से पीटकर अधमरा कर दिया। लापरवाही के आरोप में एसपी विनीत विनायक ने नूरसराय के एएसआई को निलंबित कर दिया है। उन्होंने लुटेरा गिरोह को चिन्हित कर लेने का दावा किया है। घटना के संबंध में बताया गया है कि बिहारशरीफ शहर से महज दो-तीन किलोमीटर की दूरी पर अवस्थित नूरसराय सतरह नम्बर मोड़ पर अवस्थित एक होटल के समीप खड़ीसात-आठ ट्रकों से शुक्रवार की देर रात अपराधियों ने लूटपाट की। आठ-दस की संख्या में रहे अपराधियों ने इस क्रम में चालकों व खलासियों की जमकर पिटाई की। विरोध करने पर एक चालक को बट से मारकर अधमरा कर दिया। इसके बाद लुटेरों ने भागनबिगहा थाना क्षेत्र के एक पेट्रोल पम्प के समीप भी तीन ट्रकों से लूटपाट की। लूटपाट का विरोध करने पर एकंगरसराय थाना क्षेत्र के कोसियावां निवासी व चालक अयोध्या प्रसाद सिंह को गोली मार कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। पेट्रोल पम्प के समीप लुटेरों को खदेड़ने के दौरान पुलिस व लुटरों के बीच फायरिंग भी हुई। इसी क्रम में लुटेरों ने एक चालक को गोली मार दी जिसे इलाज के लिए पटना रेफर किया गया है। घटना के बाद लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वार्ड पार्षद पर रंगदारी मांगने का मामला दर्ज