अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोड़ा सरकार पर हल्ला

कांग्रेस की दो दिनी पाठशाला रांची में शुरू हुई। इसमें पाठ पढ़ाने आये लोगों के तेवर आक्रामक थे। उद्घाटन सत्र में ही कोड़ा सरकार पर कांग्रेस के आला नेताओं ने हल्ला बोला। कार्यकर्ताओं को चुनावी संग्राम के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया गया। कहा गया कि उनके जज्बातों की कद्र की जायेगी। कार्यकर्ताओं की अपेक्षा के अनुरूप ही फैसले होंगे। इसमें देर है, लेकिन अंधेर नहीं। प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने कहा कि इस सरकार को माफ नहीं किया जा सकता है। सरकार जितने दिन सत्ता में रहेगी, जनता उतना ही घटक दलों से बिदकती जायेगी। केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने सरकार को कफन लूटनेवालों की जमात करार दिया। कांग्रेस के प्रवक्ता मोहन प्रकाश ने कहा कि यह कार्यशाला यहां की राजनीति के लिए टर्निग प्वाइंट साबित होगी। सह प्रभारी अब्दुल मन्नान ने कार्यकर्ताओं के जज्बातों के अनुरूप फैसला लेने को कहा।सांसद रामेश्वर उरांव ने कहा कि कांग्रेस अपने उसूलों से नहीं भटकी है। सांसद फुरकान अंसारी ने इस सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। कहा कि राज्य में व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए पूर्व में लिये गये निर्णय को अमल में लाना होगा। प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक प्रदीप कुमार बलमुचू ने कहा कि केंद्र और राज्य में अनिश्चितता का माहौल है। कार्यकर्ता चुनाव की तैयारी शुरू कर दें। कार्यशाला हरमू रोड स्थित दिगंबर जैन भवन में शुरू हुई। माकन ने दीप जला कर इसका उद्घाटन किया। मौके पर विधायक नियेल तिर्की, सुखदेव भगत, सौरभ नारायण सिंह सहित कई नेता मौजूद थे। नेताजी कहिन कोड़ा सरकार को माफ नहीं किया जा सकता : माकनड्ढr राज्य में कफन लूटनेवालों की है जमात : सुबोधकांतड्ढr टर्निग प्वाइंट साबित होगी कार्यशाला : मोहनड्ढr कार्यकर्ताओं के जज्बातों को ध्यान में रखें : मन्नानड्ढr अपने उसूलों से नहीं भटकी है कांग्रेस : रामेश्वरड्ढr सरकार को उखाड़ कर व्यवस्था दुरुस्त करें : फुरकानड्ढr अनिश्चय का माहौल, चुनाव की तैयारी करें : बलमुच ूकिचकिच न करें माकन : बंधु शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की ने कांग्रेस के झारखंड प्रभारी अजय माकन को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि रोज-रोज बयानबाजी कर किचकिच न करें। समर्थन वापस ही लेना है, तो आज कल क्यों, अभी क्यों नहीं? हौवा बनाने की जरूरत नहीं है। वह पत्रकारों से बात कर रहे थे।माकन के बयान से वह काफी आहत हैं। उन्होंने कहा कि माकन को समझना चाहिए कि गंठबंधन की सरकार है। अनावश्यक बयानों से विपक्ष मजबूत होगा। अगर कोई समस्या है, तो सभी दलों को बैठ कर उसका समाधान निकालना चाहिए। अगर समर्थन वापस लेना है, तो कांग्रेस जब चाहे समर्थन वापस ले ले। हम चुनाव में जाने के लिए तैयार हैं।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोड़ा सरकार पर हल्ला