DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

और आनंद नहीं दे सके चेतन

बैडमिंटन प्रेमी शहर के दर्शकों को रविवार को चेतन आनंद ने निराश कर दिया। जिस शानदार लय में खलते हुए राष्ट्रीय चैंपियन ने यहां इंडिया ओपन टूर्नामेंट 2008 के फाइनल तक का सफर पूरा किया था, उसे देखते हुए उनकी खिताबी जीत की आशा में गाची बाउली स्टेडियम पहुंचे दर्शकों का समर्थन भी उन्हें जीत नहीं दिला सका। रविवार को वे नर्वस थे और नतीजा, लगातार गलतियां करते हुए उन्होंने थाइलैंड के बोनजैस पोनसाना के सामने आसानी से हथियार डाल दिए। रविवार को पुरुष सिंगल्स के फाइनल में पोनसाना ने उन्हें आसानी से सिर्फ 31 मिनट के खेल में ही 21-16, 21-12 से शिकस्त देकर 1,20, 000 डॉलर के इंडिया ओपन ग्रां. प्री. बैडमिंटन टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया। इस जीत से पोनसाना को हजार डॉलर की इनामी राशि मिली जबकि चेतन आनंद को 4,200 डॉलर से ही संतोष करना पड़ा। मुंबई में 1े मिनी नेशनल्स से अपने बैडमिंटन करियर की विजयी शुरुआत करने वाले दुनिया के फिलहाल 71वें नंबर के चेतन पहली बार किसी ग्रा. प्री. टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे थे। फिर घरेलू दर्शकों के समर्थन से आज उनकी जीत की भी पूरी आशा थी। उन्होंने शुरुआत भी विश्व के 12वें नंबर के पोनसाना की सर्विस पर ही विनिंग स्मैश से की। लेकिन उसके बाद वे पूरे मैच में अपनी लय में आने के लिए लगातार संघर्ष करते नजर आए। पहले गेम में 6-6 की बराबरी तक वे बराबरी पर रहे लेकिन उसके बाद जब उन्होंने हिटिंग की कोशिश की तो शटल कंट्रोल करने में नाकाम रहे। उनके स्मैश अक्सर कोर्ट से बार रहे या नेट पर उलझ गए। उनका आखिरी रिटर्न पर भी नेट पर उलझा। पहले गेम में ही उन्होंने बीच में रैकेट भी बदला लेकिन वो भी उनके काम नहीं आया। आज चेतन में पोनसाना के खिलाफ कल वाली लय नजर नहीं आई। वे कोर्ट पर हालांकि अपना सामान्य खेल दिखा रहे थे लेकिन चेतन नर्वस होने के कारण उसके सामने फीके पड़ गए। दूसरे गेम में चेतन ने काफी देर तक पोनसाना के खिलाफ बढ़त की कोशिश की लेकिन पोनसाना के दो बार छह-छह पवाइंट की बढ़त लेने के बाद गेम में उनकी वापसी कोई जगह नहीं बची थी। दूसरी बार पर पिछड़ने के बाद तो पोनसाना से उनकी दूरी बढ़ती गई जिसे वे आखिरी तक खत्म नहीं कर सके। महिला सिंगल्स का खिताब हांगकांग की झोऊ मी ने चीन की लू लैन को 21-14, 21-14 से हरा कर जीता। चीनी वर्चस्व हालांकि पुरुष डबल्स और मिक्स्ड डबल्स में बरकरार रहा। पुरुष डबल्स फाइनल में चीन के गुओ ोनडोंग और ोईोोंगबाओ की जोड़ी ने मलयेशिया के च्यू एंग चून और चेन मिंग चोंग की जोड़ी को आज के सबसे लंबे चले मुकाबले में 58 मिनट में 1से हराया। मिक्स्ड डबल्स खिताब हेई हेनबिन और यू येंग की जोड़ी ने जीता। उन्होंने जर्मनी की क्रिस्टोफ होप और बिरगिट ओवरजायर की जोड़ी को 21-18, 21-से शिकस्त दी। महिला डबल्स में चीनी ताइपे की चेंग चिंग यू और चेंग वेन सिंग की जोड़ी ने जापान की मियूकी माएदा और सातोको सुएत्सुना को जोड़ी को 21-17, 21-16 से पराजित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: और आनंद नहीं दे सके चेतन